होम » निबंध » पर्यावरण पर निबंध Paryavaran Par Nibandh In Hindi

पर्यावरण पर निबंध Paryavaran Par Nibandh In Hindi

दोस्तों आज के इस लेख Paryavaran Par Nibandh में पर्यावरण में हो रही असंतुलित घटनाक्रम को हम सब अनदेखा नहीं कर सकते इसलिए हमें इस पर विचार करने की जरूरत है इसलिए हमने इस निबंध में पर्यावरण की कुछ मुख्य बिंदुओं को केंद्र में रखा है जिसका अनुसरण हमारे लिए बहुत जरूरी है। 

Paryavaran Essay In Hindi : Paryavaran Par Nibandh

paryavaran par nibandh

पर्यावरण सीधे तौर पर हमारी जिंदगी से जुड़ा हुआ है यदि हम पर्यावरण को नुकसान पहुंचाएंगे और उसे प्रदूषित करेंगे तो यह हमारी जिंदगी को संकट में डालने जैसा होगा इसलिए संयुक्त राष्ट्र का पर्यावरण दिवस पर वर्तमान नारा पारिस्थितिकी तंत्र को बेहतर करने का है। 

यह तब ज्यादा महत्वपूर्ण हो जाता है जब कोविड-19 ने पूरी दुनिया में हाहाकार मचा कर रखा है। यह पूरी तरह सच है कि कोरोना वायरस को पर्यावरण के बिगड़ते सूचक के रूप में समझना चाहिए क्योंकि शायद आज यह भी है कि हम इस बड़ी महामारी को अगर प्रकृति के साथ जोड़ कर देखें तो भविष्य में इसे कुछ हद तक रोका जा सकता है। 

पर्यावरण का सम्मान करें : Paryavaran Par Nibandh

आज हमें अपनी सीमा अवश्य खींच लेनी चाहिए आज समय है कि हम प्रभु प्राकृतिक प्रवृत्ति को अलग न करें वैसे भी हमारे  शास्त्रों में हवा मिट्टी जल अग्नि को देवता तुल्य माना गया है।

यह भी समझना जरूरी है प्राकृतिक हमारी प्रवृत्ति को भी तैयार करता है आज बिगड़ती पर्यावरण के साथ साथ अलग-अलग चीजें ही पैदा नहीं हो रही बल्कि उसके साथ-साथ कई कुरीतियों का भी जन्म हो रहा है। 

उदाहरण के लिए आज से दुनियाभर में फास्ट फूड स्टोर जैसे दुकानों ने जगह बना लिया है इनमें परोसे जा रहे अलग-अलग तरह के भोजन निश्चित रूप से ही हमारी प्रवृत्ति एवं हमारे स्वास्थ्य पर भारी पड़ रहा है। इस तरह के फास्ट फूड से शरीर में तमाम तरह की बीमारियां उत्पन्न होती है और इसका सीधा असर हमारे व्यवहार पर भी देखने को मिलता है। इस तरह  पर्यावरण का पूरा  असर हमारे शरीर एवं व्यवहार पर देखने को मिलता है।

अभी के समय में वन्य जीवों को भोजन के रूप में लोग अपना रहे हैं।  वर्तमान समय में जीवों को भोजन के रूप में खाए जाने का प्रचलन ही चल पड़ा है इसे  कई बड़े-बड़े  व्यापार चलते हैं और इसका सीधा असर हमारे आने वाले समय में दिखेगा।

हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि पर्यावरण ने हमें सब कुछ दिया है हम जहां पैदा होते हैं वहां की मिट्टी से हम लोग भोजन भी प्राप्त कर सकते हैं और यह हमारे सेहत के लिए भी अच्छा होता है यदि हम वन्य जीवों को भोजन के रूप में इस्तेमाल ना करें तो हम पर्यावरण को बचाने में एक और सफलता हासिल कर लेंगे। 

हम सब पर्यावरण पर आश्रित हैं यह हमें समझने की जरूरत है : Paryavaran Par Nibandh

इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण दिवस इस बात पर केंद्रित है कि हम किस तरह से अपने पारिस्थितिक तंत्र को दोबारा अपनी मेहनत  एवं व्यवहार से कैसे वापस ला सकते हैं। 

इसके बड़े बड़े कारणों में यह स्पष्ट है कि हम अपने पूरे तंत्र वह इकोसिस्टम को समझने में फेल हो चुके हैं और पर्यावरण के नियमों और कानूनों से पूरी तरह दूर हैं। प्राकृतिक हमारी शिक्षा एवं व्यवहार का एक हिस्सा है। 

आज यह सबसे बड़ी चुनौती बन गई है कि हम पर्यावरण के नियमों को एक नए सिरे से समझें। हमें  जानना होगा कि हमारी सीमाएं क्या है? किसी भी तरह की हलचल व लाभ के लिए हमें अंत में पृथ्वी पर ही निर्भर होना पड़ता है।  

इसलिए हमे अपने पारिस्थितिक तंत्र को समझें और अपनी बदलती चाल चलन पर अंकुश लगाएं। पर्यावरण के प्रति हमारी समझ जितनी बढ़ेगी उतना ही हमारे पर्यावरण के लिए बेहतर कर पाएंगे जिससे हमें एक स्वस्थ पर्यावरण मिल सकता है।

सामूहिक प्रयासों से Paryavaran Suraksha

आज हम सब ऐसी मुश्किल में है जिसे हम सब मिलकर भी सुलझा नहीं सकते। पर्यावरण ने कोविड-19 जैसे अदृश्य वायरस को भी हमारे सामने लाकर खड़ा कर दिया है

अतः  पर्यावरण हमें समझाने की कोशिश कर रही है कि कोई भी वैज्ञानिक प्रयत्न को विफल कर सकती है यदि हम पर्यावरण को केंद्र में ना रख कर काम करें तो पर्यावरण को बचाने में रिफर्बिश्ड सामानों का इस्तेमाल भी एक अच्छी कदम है। । 

प्राकृतिक हमें बार-बार यह दिखाने की कोशिश कर रही है कि हमें संतुलन को बनाए रखना चाहिए और यह तभी सफल हो सकता है जब हम एक साथ मिलकर  पर्यावरण के नियमों  को  समझें और  पर्यावरण के स्वरूप ही अपनी प्रवृत्ति को बदलें। 

अभी जिस परिस्थिति में हम सभी खड़े हैं वह हमारी गलतियों का नतीजा है क्योंकि हमने पर्यावरण को इतना प्रदूषित कर दिया है कि वह हमारे लिए रोज रोज एक नई समस्याएं लेकर आ रही है। 

इसलिए हमें अब पछतावा करनी चाहिए और अपनी गलती को सुधारने के लिए एवं पर्यावरण को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए सब मिलकर साथ आएं और पर्यावरण के हितों में कार्य करें। 

प्रश्न और उत्तर : पर्यावरण पर निबंध

What is paryavaran?

हमारे आसपास वातावरण में मौजूद वायुमंडल जलमंडल जीवमंडल के मिश्रण को पर्यावरण कहा जाता है।

How to keep our surroundings clean in Hindi?

हमे अपने आसपास साफ़ सफाई का ध्यान रखना चाहिए कूड़े कचरे को उसकी जगह डस्टबिन में रखनी चाहिए जहाँ तहँ कूड़ा कचरा न फेकें घर की गन्दगी को किसी निश्चित स्थान पे ही फेंके इसके अलावा हम कम से कम गैस प्लांट कारखानों का इस्तेमाल kar के पर्यावरण को बचा सकते है।

What is environment in Hindi?

हमारे आसपास वातावरण में मौजूद वायुमंडल जलमंडल जीवमंडल के मिश्रण को पर्यावरण कहा जाता है।

Leave a Comment

error: जानकारी सुरक्षित है