होम » जानकारी » E-commerce के अनुप्रयोग क्या है? ई-कॉमर्स अनुप्रयोग से होने वाले लाभ और नुकसान

E-commerce के अनुप्रयोग क्या है? ई-कॉमर्स अनुप्रयोग से होने वाले लाभ और नुकसान

हम दैनिक रूप से ई-कॉमर्स के द्वारा किसी भी वस्तुओं और सेवाओं को खरीद कर इस्तेमाल करते हैं लेकिन क्या आपको पता है ई-कॉमर्स का वास्तविक अनुप्रयोग क्या है अगर नहीं तो आइए जानते हैं ई-कॉमर्स के अनुप्रयोग से होने वाले लाभ और नुकसान की संपूर्ण विशेषता।

वर्तमान समय में ई-कॉमर्स व्यापार करने का सबसे अधिक लोकप्रिय तरीका है क्योंकि लोग अधिकतर इंटरनेट की सहायता से चीजों को खरीदना पसंद करते हैं। ई-कॉमर्स वस्तुओं और सेवाओं को खरीदने का सबसे क्रांतिकारी माध्यम बन गया है। 

ई-कॉमर्स के अनुप्रयोग क्या है?

e commerce ke anuprayog kya hai

ई-कॉमर्स के सबसे महत्वपूर्ण अनुप्रयोग मार्केटिंग और ई-बैंकिंग है। मार्केटिंग करने की तकनीक में इस्तेमाल होने वाली ऑनलाइन व्यवस्था को ई-कॉमर्स के अनुप्रयोग में संदर्भित किया जाता है। ई-कॉमर्स में आपको विभिन्न प्रकार की सुविधा मिलती है जिससे आप अपने जीवन में इस्तेमाल होने वाली सभी चीजों को आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। 

कई बार ई-कॉमर्स के अनुप्रयोग के नाम पर Amazon, E-bay, Groupon इत्यादि जैसे Software Application को दर्शाया जाता है लेकिन यह पूर्णता गलत है ई-कॉमर्स एक ऑनलाइन व्यवस्था है जहां आप चीजों को खरीद बेच सकते हैं।

यह भी पढ़ें: उपभोक्ता जागरूकता से क्या आशय है इसकी आवश्यकता हमें क्यों पड़ती है

ई-कॉमर्स केवल ऐप तक सीमित नहीं है यह तो केवल ई-कॉमर्स को विस्तार करने का तरीका है क्योंकि ई-कॉमर्स का अनुप्रयोग आप ऑनलाइन वेबसाइट और किसी व्यवस्थित सरवर में भी कर सकते हैं।

ई-कॉमर्स के अनुप्रयोग

e commerce ke anuprayog kya hai

आधुनिक समय में ई-कॉमर्स के कई अनुप्रयोग देखने को मिलते हैं क्योंकि दिन प्रतिदिन ई-कॉमर्स की दुनिया में नए-नए चीजों को जोड़ा जा रहा है। यहां आपको हम कुछ निम्नलिखित ई-कॉमर्स के अनुप्रयोग बताएंगे जो ई-कॉमर्स को वास्तविक रूप से प्रभावित करता है।

1. खुदरा और थोक विक्रेता कि व्यावसायिक वृद्धि

ई-रिटेलिंग या ऑनलाइन रिटेलिंग का तात्पर्य खुदरा और थोक विक्रेता से उपभोक्ताओं तक ऑनलाइन स्टोर के माध्यम से वस्तुओं और सेवाओं के लेन-देन से है। 

इसे वर्चुअल शॉपिंग कार्ट और ई-कैटलॉग जैसे माध्यमों से उपयोग किया जाता है। इसके उपयोग से विक्रेता के व्यवसाय में वृद्धि होती है क्योंकि यहां अधिक से अधिक उपभोक्ता एक साथ जोड़ते हैं।

2. ऑनलाइन घर बैठकर शॉपिंग

पिछले कुछ वर्षों में लोगों की खरीदारी करने के तरीके में भारी बदलाव आया है। ऑनलाइन खरीदारी हमेशा आरामदायक, सुविधाजनक और अधिकतर समय किफायती होती है । Flipkart , Amazon, Reliance digital जैसे ऑनलाइन शॉपिंग ऐप की समृद्धि इसका प्रमाण है। 

3. ऑनलाइन बुकिंग

यातायात और पर्यटन का क्षेत्र आज बहुत तीव्र गति से बढ़ रहा है इसलिए ऑनलाइन बुकिंग ई-कॉमर्स का एक महत्वपूर्ण अनुप्रयोग है। ऑनलाइन बुकिंग से लोगों को ट्रेन टिकट, होटल के कमरे, पर्यटन पैकेज, परिवहन सेवाओं आदि जैसी यात्रा आवश्यक सेवाओं को बुक करने में आसानी होती है। यह लोगों के लिए यात्रा को बहुत सुविधाजनक और आसान बनाता है क्योंकि सबकुछ ऑनलाइन मोबाइल के द्वारा ही संभव है।

यह भी पढ़ें: OYO क्या होता है और इसमें होटल कैसे बुक कर सकते हैं पूरी जानकारी

4. मोबाइल ऐप और वेब एप्लिकेशन

ई-कॉमर्स की दुनिया में कंपनी के पास मोबाइल ऐप और वेब एप्लीकेशन जैसी सुविधाएं होती है। वर्तमान में जितने भी बड़े-बड़े कंपनी हैं सभी के पास अपना खुद का ऐप है जिससे वह अपने उत्पाद को सीधे उपभोक्ताओं को भेजते हैं। इसके उपयोग से ग्राहकों का विश्वास कंपनी के ऊपर बढ़ता है।

5. आसान और फायदेमंद मार्केटिंग

उपयोगकर्ताओं को एक उन्नत और अनुकूलित खरीदारी अनुभव प्रदान करने के लिए ई-कॉमर्स का उपयोग करके मूल्य निर्धारण, उत्पाद सुविधाओं और ग्राहक संबंधों के निर्माण जैसी महत्वपूर्ण चीजों को को मजबूत किया जा सकता है। ई-कॉमर्स डिजिटल मार्केटिंग रणनीतियाँ व्यवसायों को बढ़ावा देने का एक आसान तरीका बन गई हैं।

6. पैसों का लेनदेन आसान

वित्त विभाग और ई-कॉमर्स आज पहले से कहीं अधिक एकत्रित रूप से कार्य करते हैं जहां बैंक और शेयर बाजार भी ई-कॉमर्स का महत्व पूर्ण तरीके से इस्तेमाल करते हैं। ई-कॉमर्स के जरिए बैंकिंग की सभी सुविधाएं जैसे बैलेंस चेक, बिल भुगतान, मनी ट्रांसफर इत्यादि ऑनलाइन मोबाइल पर ही मिल जाती है जहां से आप आसानी से अपने पैसे का लेन देन कर सकते हैं।

7. नई वस्तुओं और सेवाओं का निर्माण

ई-कॉमर्स ना केवल वस्तुओं के खरीद और बिक्री के कार्यों में प्रयोग होते हैं बल्कि इसका इस्तेमाल नई वस्तुओं के निर्माण के लिए भी किया जाता है। ई-कॉमर्स हमें इलेक्ट्रॉनिक रूप से यह बताता है कि कौन सी चीज उपलब्ध नहीं है और कौन सी चीज उपलब्ध है किस चीज को लोग ज्यादा मांग कर रहे हैं और किसकी जरूरत हमें है।

यह भी पढ़ें: अभी दुनिया का सबसे अमीर आदमी कौन है?

8. किसी भी सामान को बेचना आसान

ई-कॉमर्स के जरिए किसी भी सामान को बेचा जा सकता है क्योंकि यहां कोई क्षेत्रफल का दायरा नहीं होता कहीं से भी सामान को खरीद सकते हैं। ई-कॉमर्स के प्रयोग से किसी भी सामान को बेचा जा सकता है क्योंकि यह उपभोक्ताओं की कोई कमी नहीं होती है।

9. ऑनलाइन प्रकाशन

वर्तमान में डिजिटल पत्रिकाएँ और ई-पुस्तकें धीरे-धीरे पारंपरिक मुद्रित पुस्तकों की जगह ले रही है और क्यों ना ले इसके कई फायदे हैं जैसे पोर्टेबिलिटी, लाइटवेट, हर जगह से इस्तेमाल करना आसान है इत्यादि।

ऑनलाइन प्रकाशन पर्यावरण के लिए अनुकूल है क्योंकि वह कागज को कम करने और पेड़ को बचाने में हमारी मदद करता है। इन सभी कारणों से ई-कॉमर्स की दुनिया में ऑनलाइन प्रकाशन काफी प्रचलित हो गया है।

10. ई-बैंकिंग

ई-बैंकिंग या इंटरनेट बैंकिंग एक ई-कॉमर्स अनुप्रयोग है जिसने लोगों के लिए समय लेने वाली और जटिल बैंकिंग प्रक्रियाओं को पूर्ण रूप से आसान बना दिया है।

यह भी पढ़ें: Pearlvine International क्या है? पर्ल्वाइन का इतिहास कैसा था?

यह बैंक उपयोगकर्ताओं को बैंकों में लंबी कतारों में लगे किए बिना आसानी से ऑनलाइन पैसों का लेन देन करने में सक्षम बनाता है। अपने ग्राहकों को वर्चुअल बैंकिंग सेवाएं प्रदान करने के लिए आज सभी बैंकों के पास अपना Apps या Website है।

ई-कॉमर्स के अनुप्रयोग का लाभ और नुकसान 

ई-कॉमर्स अनुप्रयोग के लाभई-कॉमर्स अनुप्रयोग के नुकसान
किसी वस्तु को खरीदना बहुत आसान है।सभी प्रकार की वस्तु यहां आपको उपलब्ध नहीं होते हैं।
पैसे के भुगतान के लिए बहुत सारे विकल्प मिलते हैं।खरीदे गए वस्तु को घुमाना कठिन है।
यहां आपको अच्छे-अच्छे ऑफर मिलते हैं।अधिकतर ऑफर्स केवल कुछ बैंकिंग कंपनी के लिए ही उपलब्ध होते हैं।
कीमती कीमती चीजें आपको यहां पर कम कीमतों में मिल सकती है।वास्तविक रूप से आप चीजों को हाथ में लेकर नहीं देख सकते।

यह भी पढ़ें: Google का असली मालिक और CEO कौन है?

प्रश्न और उत्तर

ई-कॉमर्स का प्रयोग कब से शुरू हुआ? 

ई-कॉमर्स का प्रयोग 1990 से शुरू हुआ जहां इसका शुरुआती नाम कंप्यूटर मार्केट हुआ करता था। जब इसकी शुरुआत की गई तो यह उतना विकसित नहीं था पर आज यह सभी प्रकार की सुविधाएं देता है।

ई कॉमर्स की जरूरत क्यों?

ई-कॉमर्स हमारे लिए काफी फायदेमंद है क्योंकि यह हमें बाजार जाने से बचाता है और सामान को कम कीमतों में खरीदने के लिए भी यह काफी उपयोगी है।

ई-कॉमर्स का इस्तेमाल भारत में कितने लोग करते हैं?

भारत में लगभग 40% से 50% लोग सामान को ई-कॉमर्स ऑनलाइन प्लेटफॉर्म द्वारा खरीदते हैं।

ई-कॉमर्स और कॉमर्स मैं क्या भिन्नता है?

ई-कॉमर्स और कॉमर्स दोनों का कार्य एक ही है बस अंतर इतना है ई-कॉमर्स ऑनलाइन द्वारा किया जाता है और कॉमर्स ऑफलाइन बाजारों के लिए है।

यह भी पढ़ें: डिलीवरी ट्रेडिंग क्या होता है पूरी जानकारी

निष्कर्ष

दिन प्रतिदिन ई-कॉमर्स के अनुप्रयोग बढ़ते जा रहे हैं क्योंकि लोगों को और सुविधाओं की जरूरत है। ई-कॉमर्स के प्रयोग से ना केवल ग्राहक खुश रहते हैं बल्कि जो विक्रेता है उन्हें भी अच्छा मुनाफा मिलता है। यही सब कारण है कि आज ई-कॉमर्स का क्षेत्र काफी बड़ा बन चुका है।

हम आशा करते हैं आपको ई-कॉमर्स के अनुप्रयोग क्या है और ई-कॉमर्स के लाभ और नुकसान से संबंधित या जानकारी आपको अच्छी लगी होगी।

यदि आपको ई-कॉमर्स के अनुप्रयोग से संबंधित यह जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ नीचे दिए गए फेसबुक और व्हाट्सएप के बटन को दबाकर शेयर करें।

ई-कॉमर्स के अनुप्रयोग से संबंधित किसी भी प्रकार के प्रश्न या सुझाव आपके मन में हो तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर बता सकते हैं हम उसका उत्तर आपको अवश्य देंगे।

इसी प्रकार की जानकारियों को रोजाना पढ़ने के लिए आप हमारे वेबसाइट को सब्सक्राइब कर सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए आप हमारे वेबसाइट के होम पेज पर जा सकते हैं।

1 thought on “E-commerce के अनुप्रयोग क्या है? ई-कॉमर्स अनुप्रयोग से होने वाले लाभ और नुकसान”

Leave a Comment

error: जानकारी सुरक्षित है