होम » जानकारी » कोलाज क्या है? कोलाज कितने प्रकार के होते हैं और पेपर कोलाज के उपयोग

कोलाज क्या है? कोलाज कितने प्रकार के होते हैं और पेपर कोलाज के उपयोग

नमस्कार दोस्तों आज हम लोग बात करेंगे कोलाज क्या है? और कोलाज से आप क्या समझते हैं तथा कोलाज किसे कहते हैं और कोलाज के प्रकार एवं पेपर कोलाज के उपयोग क्या है? अगर आपको कोलाज के विषय में संपूर्ण बातों को जानना है तो यह आर्टिकल आपकी मदद करेगा।

कोलाज शब्द की उत्पत्ति फ्रांसीसी भाषा के “कोलर” शब्द से हुई है क्योंकि कोलाज का इतिहास फ्रांस से जुड़ा हुआ है, कोलाज बनाने की अनगिनत संभावनाएं हैं

कोलाज का उपयोग हम विभिन्न तरीके से कर सकते हैं जैसे स्कूल के प्रोजेक्ट तथा घर आदि को सजाने में, हम आपको यहां कोलाज बनाने की विधि को भी बताएंगे जिससे आप अपने घरों में कोलाज बना सकते हैं।

कोलाज क्या है?

kolaj kya hai

कोलाज एक दृश्य कला है जिसे कई प्रकार के चित्रों, फेविकोल, कागज, कपड़े, माचिस की डिब्बी और घर में उपस्थित विभिन्न प्रकार के अनुपयोगी वस्तुओं का इस्तेमाल करके बनाया जाता है जिसमें हमें एक कहानी का दृश्य दिखाई देता है।

इसे बनाते समय चित्रों को विभिन्न तरीके से काटकर फेविकोल के जरिए चिपकाया जाता है और अन्य वस्तुओं को भी संयोजित अवस्था में सजाया जाता है जिससे कि एक दृश्य संपूर्ण रुप से बन सके।

कोलाज कितना सुंदर होगा यह आपके कल्पना पर निर्भर करता है क्योंकि इसे बनाते वक्त आपको अपने दिमाग में बने काल्पनिक चित्रों का उपयोग करना होता है।

यह भी पढ़े: Photo Ke Piche Ka Background Change Karne Wala App

कोलाज कितने प्रकार के होते हैं?

कोलाज की विशेषताओं के आधार पर मुख्यता तीन प्रकार में विभाजित किया गया है जो निम्नलिखित हैं।

  1. पेपर कोलाज 
  2. फोटो कोलाज
  3. मिश्रित कोलाज

यह सभी कोलाज को अपनी अपनी विशेषताओं के आधार पर बांटा गया है जिसकी संपूर्ण व्याख्या यहां दी गई है। 

पेपर कोलाज क्या है?

पेपर कोलाज एक ऐसे कोलाज की विधि है जिसे कई प्रकार के पेपर जैसे न्यूज़पेपर, चमकीले पेपर, रंग बिरंगे पेपर इत्यादि को मिलाकर कोलाज बनाया जाता है जिसे पेपर कोलाज कहते हैं। पेपर कोलाज में कैनवस जैसी सतह का उपयोग किया जाता है।

पेपर कोलाज को बनाने के लिए पेपर को विभिन्न आकारों जैसे तितली, पक्षी, शेर, घर आदि आकार में काटकर अलग अलग स्तर में रखकर सजाया जाता है जिससे कोलाज देखने में सुंदर लगे।

शुरुआती दौर में पेपर कोलाज का अधिक उपयोग ग्रीस में किया जाता था बाद में इसकी उपयोगिता बढ़ने लगी और यह फर्नीचर को सजाने में भी इसका इस्तेमाल होने लगा। 

यह भी पढ़े: Best Stylish Photo Banane Wala Apps Download

फोटो कोलाज क्या है?

सिर्फ फोटो के द्वारा तैयार की गई कोलाज को फोटो कोलाज कहते हैं। फोटो कोलाज को बनाने में हम अपने यादगार फोटो को सुनिश्चित आकार में काट कर एक बोर्ड पर सजाते हैं जिससे कि वह कोलाज हमारे एक समय काल को दर्शा सकें।

अगर आप अपने बीते समय काल की कहानी को चित्र के रूप में अनुभव करना चाहते हैं तो फोटो कोलाज इसका सबसे अच्छा माध्यम साबित हो सकता है।

फोटो कोलाज की गिनती सबसे महंगी कोलाज में की जाती है क्योंकि इसे बनाने में हमें अधिक पैसे खर्च करने होते हैं।

यह भी पढ़ें: 14344 का मतलब और फुल फॉर्म क्या होता है?

फोटो कोलाज को एक विशेष किस्म के प्रेम में सजाया जाता है जिससे कि वह हमारे भूतकाल का अति सुंदर वर्णन दे सके 

मिश्रित कोलाज क्या है?

विभिन्न प्रकार की वस्तुओं का इस्तेमाल करके जो कोलाज बनाई जाती है उसे मिश्रित कॉलेज कहते हैं। मिश्रित कोलाज को बनाते समय हम कागज, फोटो, गेंद, फेविकोल, कपड़े, रंग, लकड़ी और घर के विभिन्न अनुपयोगी वस्तुओं के मिश्रण का इस्तेमाल करके कोलाज को एक कलात्मक रूप प्रदान करते हैं।

मिश्रित कोलाज को बनाने में प्लास्टिक की वस्तुओं को चिपकाने के लिए फेविकोल लगाकर या प्लास्टिक को जलाकर उसे जोड़ा जा सकता है, कोलाज के इस विधि में संयोजन की संभावनाएं अत्यधिक होती है।

पाब्लो पिकासो भी एक मिश्रित कोलाज के कलाकार थे जिन्होंने मिश्रित कोलाज बनाते वक्त धातु के स्क्रैप का इस्तेमाल किया था।

यह भी पढ़ें: गर्लफ्रेंड बनाने वाला सबसे अच्छे ऐप अब बनाए अपना GF आसानी से

कोलाज के यह तीन मुख्य प्रकार के अलावा भी वर्तमान में कई सारे कोलाज बनाने के तरीके उपस्थित हैं जिसका इस्तेमाल करके आप एक बेहतरीन कोलाज का निर्माण कर सकते हैं।

कोलाज बनाने के अन्य उपाय

  1. कागज के द्वारा
  2. कपड़ों एवं धागों द्वारा
  3. लकड़ी के द्वारा
  4. पौधों के पत्ते द्वारा 
  5. सजावट के सामान द्वारा
  6. प्लास्टिक के द्वारा
  7. विभिन्न प्रकार के अनाज के दानों के द्वारा
  8. कीमती पत्थरों द्वारा
  9. शीशे के टुकड़े द्वारा

कोलाज के उपयोग

कोलाज के प्रमुख उपयोग निम्नलिखित हैं:

  • घर को सजाने के लिए कर सकते हैं।
  • अपनी कला को दर्शाने के लिए कर सकते हैं।
  • अपनी कल्पनाओं को रूप देने के लिए कर सकते हैं।
  • ग्राहकों को समझाने के लिए कर सकते हैं। 
  • पुरानी यादों को संजोने के लिए कर सकते हैं।
  • अपनी फोटो को सजाने के लिए कर सकते हैं।
  • विभिन्न प्रकार के डिजाइन का ढांचा तैयार करने के लिए कर सकते हैं।
  • भविष्य के लिए अपने लक्ष्य को निर्धारित करने के लिए कर सकते हैं।
  • अपनी शोध को सुगम बनाने के लिए कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: निब्बा निब्बी का मतलब क्या होता है?

कोलाज कैसे बनाई जाती है?

कोलाज बनाने की विधि में कई सारे चरणों का पालन करना पड़ता है जिसका अनुसरण करके आप एक अच्छा कोलाज बना सकते हैं।

कोलाज बनाने की निम्नलिखित विधि है:

  1. कल्पना करें : कोलाज बनाने की सर्वप्रथम विधियां है कि आपको अपने दिमाग में कल्पना करना होगा कि आपका कोलाज बनने के बाद किस तरह से दिखेगा।
  2. जरूरी सामान को इकट्ठा करें :  अपनी कल्पनाओं के अनुसार कोलाज को  सजाने के लिए आवश्यक वस्तुओं जैसे गोंद, फोटो, कागज, कपड़े इत्यादि चीजों को इकट्ठा करें।
  3. कोलाज का पृष्ठ तैयार करें :  कोलाज को बनाने में लगने वाले वस्तुओं को कब कहां लगाना है इसका पृष्ठ तैयार करें।
  4. गोंद लगाकर चिपकाए : कोलाज के पृष्ठ के अनुसार आवश्यक वस्तुओं में गोंद लगाकर बोर्ड पर चिपकाना शुरू करें।

जब आप इन सभी चरणों का पालन करते हुए सभी वस्तुओं सुनिश्चित स्थान पर चिपका देंगे जिससे आपका कोलाज बनकर तैयार हो जाएगा।

यह भी पढ़ें: Hi का मतलब क्या होता है?

कोलाज का इतिहास क्या है?

कोलाज का इतिहास देखा जाए तो हमें यह पता चलता है कि जॉर्ज बराक और पिकाचू ने बीसवीं शताब्दी में ही कोलाज की शुरुआत कर दी थी। कुछ समय बाद विभिन्न कलाकारों ने अपनी अपनी कल्पनाओं के आधार पर इस कला को एक ऊंचा स्थान पर लेकर आए।

कोलाज बनाने के और सीमित संभावनाओं के कारण हमें कोलाज में चित्रकला और मूर्तिकला दोनों का ही आनंद मिलता है। 

कला के इस दौर में हमारे भारतीय मूल के कलाकार भी पीछे नहीं रहे उन्होंने भी इस कला की पद्धति में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया। जिसमें हमारे सांतिनिकेतन के विनोद बिहारी मुखर्जी ने अपने कागज के कोलाज का अनूठा प्रदर्शन करके पेपर कोलाज की दुनिया में एक क्रांति ला दी

इसी प्रकार से बंगाल के ही रहने वाले चित्र कलाकार बलराज पनेसर ने अपने संसार से संबंधित चित्रों को कागज की कतरनों से सजाया।

यह भी पढ़ें: OYO क्या होता है

प्रश्न और उत्तर

कोलाज किसे कहते हैं?

विभिन्न प्रकार की वस्तुओं को एक सुनिश्चित पृष्ठ में सजाने से बनी हुई दृश्य कला को कोलाज कहते हैं। इसे बनाने में विभिन्न प्रकार की वस्तुएं जैसे कागज, कपड़ा, गोंद, प्लास्टिक, लकड़ी, माचिस की डिब्बी इत्यादि जैसी चीजों का उपयोग होता है।

पेपर कोलाज क्या है?

जिस कोलाज को बनाने में सिर्फ पेपर का इस्तेमाल किया जाता है उसे पेपर कोलाज कहते हैं, इसे बनाने में विभिन्न प्रकार के रंगो के कागज का प्रयोग किया जाता है।

कोलाज से आप क्या समझते हैं?

कोलाज एक दृश्य कला है जिसके माध्यम से लोग विभिन्न प्रकार की वस्तुओं को एक बोर्ड पर सजाकर एक दृश्य तैयार करते हैं जिसे कोलाज करते हैं।

कोलाज पेंटिंग कैसे बनाई जाती है?

कोलाज पेंटिंग विभिन्न प्रकार के रंगों को मिलाकर कोलाज पेंटिंग बनाई जाती है और कोलाज पेंटिंग की एक खास विशेषता यह है कि इसमें सिर्फ एक दृश्य नहीं बल्कि कई सारे दृश्य आपको एक साथ देखने को मिलते हैं।

कोलाज का मतलब क्या होता है?

विभिन्न प्रकार की वस्तुओं को एक साथ मिलाने की प्रक्रिया को ही कोलाज कहते हैं जिसे बीसवीं सदी से ही कला की दृष्टि से देखा जाता है।

यह भी पढ़ें: फोटो एडिट करने वाली वेबसाइट

निष्कर्ष

कला के क्षेत्र में कोलाज एक महत्वपूर्ण कला है जिसे दृश्यों के जरिए प्रदर्शित किया जाता है और यह हमारे समाज को एक नई क्रांति प्रदान करती है।

हम आशा करते हैं आपको हमारी कोलाज क्या है और कोलाज के कितने प्रकार होते हैं तथा कोलाज से आप क्या समझते हैं? एवं कोलाज के उपयोग और बनाने की विधि क्या है? के ऊपर हमारी यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी।

जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ नीचे दिए गए फेसबुक और व्हाट्सएप के बटन के माध्यम से शेयर करें।

कोलाज से जुड़ी हुई कोई भी प्रश्न या सुझाव आपके मन में हो तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर बता सकते हैं हम उसका उत्तर अवश्य देंगे।

इसी प्रकार की रोचक जानकारियों को रोजाना पढ़ने के लिए आप हमारे वेबसाइट को सब्सक्राइब भी कर सकते हैं।

1 thought on “कोलाज क्या है? कोलाज कितने प्रकार के होते हैं और पेपर कोलाज के उपयोग”

Leave a Comment

error: जानकारी सुरक्षित है