होम » जानकारी » रोस्टर सिस्टम क्या है और रोस्टर का मतलब क्या होता है? इसकी पूरी जानकारी

रोस्टर सिस्टम क्या है और रोस्टर का मतलब क्या होता है? इसकी पूरी जानकारी

सरकार के द्वारा एक नया परिवर्तन लाया गया है जो रोस्टर के तहत है इसलिए आज हम इसकी पूरी विशेषताओं को जानेंगे जैसे रोस्टर सिस्टम क्या है और रोस्टर का मतलब क्या होता है? आइए देखते हैं।

13 बिंदुओं के रोस्टर प्रणाली का जेएनयू के छात्र जमकर विद्रोह कर रहे हैं यदि आप रोस्टर प्रणाली से अच्छी तरह से अवगत नहीं है तो आपको इस लेख में इसकी पूरी जानकारी मिल जाएगी।

छात्र इसका जमकर विरोध कर रहे हैं क्योंकि यह हमारे छात्रों के भविष्य से जुड़ा हुआ सवाल है इसलिए यदि आप एक छात्र हैं तो आपको रोस्टर सिस्टम क्या है इसकी जानकारी होनी चाहिए।

रोस्टर सिस्टम क्या है?

13 बिंदुओं के रोस्टर सिस्टम को हमारे संसद से प्रस्तावित किया गया है जो निम्न जाति से संबंधित छात्रों के नौकरी में चयन  की प्रक्रिया को रूपांतरित करता है जिसे हम नया रोस्टर सिस्टम कहते हैं।

roster system ka matlab kya hota hai

13 सूत्री रोस्टर प्रणाली प्रत्येक विभाग को एक इकाई के रूप में लेती है और लिए भर्ती और आरक्षण नीति को लागू करती है शिक्षकों के विभाग को एक इकाई के रूप में रखते हुए।

पहले से स्वीकृत 200 सूत्रीय प्रणाली में आरक्षण और भर्ती पूरे लेकर हुई विश्वविद्यालय को एक इकाई के रूप में रखा गया है।

पहले 200 प्वाइंट रोस्टर सिस्टम हुआ करता था पर अभी सरकार इसे बदल कर 13 प्वाइंट रोस्टर सिस्टम में लागू कर दिया है।

यह भी पढ़े: दारिस क्या है और दारिस का उपयोग कहां होता है?

नई वाली रोस्टर सिस्टम में बदलाव किया गया है जो हाल ही में हमारे भारत सरकार द्वारा किया गया है। नीचे इसकी पूर्ण व्याख्या दी गई है।

रोस्टर का मतलब क्या होता है?

रोस्टर का मतलब होता है हर एक इकाई को एक साथ सम्मिलित करना और उसे एक निश्चित इकाई में परिवर्तित करना जिसे रोस्टर सिस्टम में देखा गया है जहां एक निश्चित जनजातियों को एक निश्चित इकाइयों में रखा गया है।

शिक्षक और छात्रों की भर्ती प्रक्रिया को एक निम्नलिखित 13 बिंदुओं की इकाई बनाकर अलग-अलग करके रखा गया है जो रोस्टर प्रणाली के अंतर्गत आता है।

नए रोस्टर सिस्टम और पुराने वाले रोस्टर सिस्टम में क्या अंतर है?

200 प्वाइंट रोस्टर सिस्टम में एससी, एसटी और ओबीसी समुदायों के लिए 99 पद और अनारक्षित के लिए 101 पद आरक्षित थे।

इस रोस्टर के तहत एक विभाग में आरक्षित सीटों की कमी होने पर विश्वविद्यालय में अन्य विभागों में आरक्षित समुदायों के अधिक लोगों द्वारा इसकी भरपाई की जा सकती है अभी के अनुसार।

यह भी पढ़े: पद्मश्री पुरस्कार क्या होता है एवं इस अवार्ड में क्या-क्या मिलता है?

13 सूत्री व्यवस्था में किसी विभाग में प्रथम, द्वितीय, तृतीय, पंचम एवं छठा पद अनारक्षित होगा, जबकि चौथा पद ओबीसी के लिए, सातवां एससी के लिए, 14 वां पद एसटी के लिए आरक्षित होगा, वहीं आठवीं और 12वीं ओबीसी के लिए जबकि नौवीं, 10वीं और 11वीं अनारक्षित होगी नई रोस्टर सिस्टम में।

रोस्टर सिस्टम में कमी क्या है?

पूरे भारत में विभागों का आकार बहुत छोटा है और अधिकांश विभागों में 10 से कम संकायों की स्थिति है। बहुत कम विभाग ऐसे मिलते हैं जहां 14 से अधिक पद उपलब्ध हों।

इसलिए बहुत छोटे विभागों में जहां 14 से कम फैकल्टी के पद हैं, वहां सभी एससी/एसटी/ओबीसी को एक साथ आरक्षण देना बहुत मुश्किल हो जाता है। 

उन विभागों के मामले में जहां केवल 4 पद उपलब्ध हैं, कभी भी आरक्षित सीटों का सृजन नहीं किया जाएगा।

इसी तरह सात से कम फैकल्टी वाले विभागों में एससी और एसटी के पद नहीं होंगे। वहीं 14 से कम फैकल्टी वाले विभागों में एसटी फैकल्टी नहीं होगी। 

यह भी पढ़े: जीका वायरस क्या है? जीका वायरस के लक्षण और इलाज

बीएचयू द्वारा पिछले मानव संसाधन विकास मंत्रालय को सौंपी गई रिपोर्ट के अनुसार, यदि विश्वविद्यालय 13 सूत्रीय रोस्टर का उपयोग करता है, तो एससी के लिए आरक्षित पदों को आधा, एसटी के लिए लगभग 80% और ओबीसी शिक्षकों के लिए 30 से कम कर दिया जाएगा।

प्रश्न और उत्तर

छात्र और शिक्षक नए रोस्टर सिस्टम का विरोध क्यों कर रहे हैं?

नई रोस्टर प्रणाली अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/ओबीसी और अन्य हाशिए के समुदायों के प्रतिनिधित्व को व्यापक रूप से प्रभावित करेगी। 

रोस्टर के अलावा दूसरा विकल्प क्या विकल्प है?

प्रदर्शनकारी 50 प्रतिशत आरक्षण की मांग कर रहे हैं जो भारतीय संविधान सभी सामाजिक और शैक्षणिक रूप से वंचित समुदायों को देता है।

नया 10 प्रतिशत आरक्षण कैसे बदलेगा हालात?

अब, यदि आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण लागू किया जाता है, तो सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों से एससी, एसटी और ओबीसी शिक्षकों का सफाया हो सकता है।

निष्कर्ष 

रोस्टर सिस्टम का मतलब क्या होता है आपने यहां जान लिया होगा और आप यदि एक छात्र हैं तो आपकी इस पर क्या राय है हमें लिखकर जरूर बताएं।

इसी तरह की रोचक और मददगार जानकारियों को जानने के लिए आप हमारे  वेबसाइट को सब्सक्राइब करें।

जानकारी मददगार लगी हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों एवं परिवार जनों के साथ शेयर करें, आपका इस जानकारी को पढ़ने के लिए धन्यवाद। 

Leave a Comment

error: जानकारी सुरक्षित है