होम » शिक्षा » Fashion Designing क्या होता है? फैशन डिजाइनर के लिए कोर्स और कॉलेज 

Fashion Designing क्या होता है? फैशन डिजाइनर के लिए कोर्स और कॉलेज 

दोस्तों अगर आप फैशन डिजाइनिंग क्या होता है और भारत में फैशन डिजाइनर बनने के लिए कॉलेज और कोर्स क्या है के विषय में जानना चाहते हैं तो आज का यह आर्टिकल फैशन डिजाइनिंग क्षेत्र से जुड़े हुए आपके सभी प्रश्न का उत्तर देगा।  

फैशन डिजाइनिंग पहले केवल यूरोपीय देशों में लोकप्रिय थी लेकिन अब यह भारत में भी काफी लोकप्रिय हो चुकी है इसलिए छात्र-छात्राओं का रुझान फैशन डिजाइनिंग कोर्स के तरफ झुका है और वह एक कुशल फैशन डिजाइनर बनना चाहते हैं। 

फैशन डिजाइनिंग क्या होता है?  

fashion designing kya hota hai

फैशन डिजाइनिंग वास्तव में कला का एक रूप होता है जो कपड़े और अन्य सामानों के निर्माण के लिए पूरी तरह से समर्पित है। फैशन डिजाइनिंग के द्वारा नए-नए स्टाइल के कपड़े का निर्माण किया जाता है। फैशन डिजाइनर की जीवन शैली फैशन डिजाइनिंग करना होता है। फैशन डिजाइनिंग से लोगों को नए-नए चीजों और स्टाइल से अवगत कराया जाता है।

आधुनिक फैशन डिजाइनिंग के दो प्रकार होते हैं: रेडी टू वियर और हाउते कॉउचर। 

  1. हाउते कॉउचर: हाउते कॉउचर संग्रह विशेषाधिकार प्राप्त ग्राहकों के लिए होता है और  इसमें कस्टम आकार के डिजाइन होते हैं ताकि वे केवल उन ग्राहकों के लिए फिट हो सके जिन्हें विशेष अधिकार प्राप्त है। हाउते कॉउचर में काम करने वाले को सिंडिकल चैंबर ऑफ हाउते कॉउचर का हिस्सा होना होगा और हर वर्ष एक या दो नए फैशन डिजाइनिंग पेश करनी होगी।
  2. रेडी टू वियर: यह फैशन डिजाइनिंग कपड़े पहनने के लिए तैयार तरह के संग्रह मानक आकार के होते हैं, कस्टम मेड नहीं होते हैं, इसलिए इन्हें भरे उत्पादन के लिए उपयोग किया जाता है।

फैशन डिजाइनिंग में बना हुआ कपड़ा समय के बाद सामान्य बाजारों में भी आ जाता है क्योंकि हर फैशन डिजाइनिंग की एक समय अवधि होती है जिसके बाद वह फैशन डिजाइन पुराना हो जाता है। एक अच्छा फैशन डिजाइनर हर वर्ष नए-नए डिजाइन लाते रहते हैं।

यह भी पढ़ें: B Pharma Course क्या होता है और कैसे करे?

फैशन डिजाइनिंग का इतिहास क्या है?

चार्ल्स फ्रेड्रिक वर्थ ने उन्नीसवीं शताब्दी के दौरान अपनी पहचान पहली बार फैशन डिजाइनिंग में बनाई थी। उस समय कपड़े को ऐसे मशीनों से बनाई जाती थी जो पूरी तरह से गुमनाम थे। फैशन का मानक केवल शाही परिवारों द्वारा पहना गया डिजाइन हुआ करता था।

वर्थ पहले डिजाइनर थे जिन्होंने वास्तव में अपने ग्राहकों से पसंद पूछने के बजे उन्हें कौन से कपड़े पहनना चाहिए यह बताना शुरू किया। वर्थ का फैशन हाउस इतना प्रसिद्ध हो गया कि लोग आसानी से उसके डिजाइनों में एक नाम और एक चेहरा को जोड़ पाते थे। उसी समय से फैशन डिजाइनिंग की परंपरा शुरू हुई और कपड़े के डिजाइन को एक कंपनी या व्यक्ति से जोड़कर देखा गया।

यह भी पढ़ें: Mock Test का मतलब क्या होता है?

फैशन डिजाइनर क्या होता है?

fashion designing kya hota hai

एक फैशन डिजाइनर किसी व्यक्तिगत कपड़ों को डिजाइन करने के लिए जिम्मेदार होता है जिसमें परिधान का आकार, रंग, कपड़े, ट्रिमिंग और पूरे के अन्य पहलू शामिल होता है। फैशन डिजाइनर इस विचार से कपड़े की डिजाइन करना शुरू करता है की एक कपड़ा कैसा दिखना चाहिए उस विचार को सबसे पहले एक पेंटिंग में बदल देते हैं। उसके बाद फैशन डिजाइनर या निर्दिष्ट करता है की उस डिजाइन को श्रमिकों द्वारा कपड़ों के वास्तविक टुकड़े में कैसे बनाया जाना चाहिए।

फ़ैशन डिज़ाइनर की श्रेणी में फैशन व्यवसाय के विभिन्न स्तरों के लोग शामिल हैं जैसे:

  • जाने-माने कॉट्यूरियर 
  • व्यावसायिक रेडी-टू-वियर हाउस
  • डिज़ाइनरों
  • स्टाइलिश

फैशन डिजाइनरों का दुनिया में एक विशेष स्थान होता है। उनकी प्रतिभा और दूर दृष्टि न केवल लोगों को देखने में एक प्रमुख भूमिका निभाती है उसके साथ साथ उन्होंने सांस्कृतिक और सामाजिक वातावरण में भी महत्वपूर्ण योगदान दिया है जो समाज में एक क्रांति स्थापित करती है।

यह भी पढ़ें: Software Engineer Kya Hota Hai

फैशन डिजाइनर बनने के लिए विशेष गुण क्या है?

फैशन डिजाइनिंग एक बहुत बड़ी कला है और फैशन डिजाइनर बनने के लिए:

  • आपके पास एक रचनात्मक और कलात्मक व्यक्तित्व होना चाहिए जो अलग हो
  • टोन, शेड्स और रंगों को मिलाने में सक्षम होने के लिए आपके पास अच्छा ड्राइंग कौशल भी होना चाहिए ताकि आप बेहतर ढंग से प्रस्तुत कर सके।
  • आपको सभी प्रकार के कपड़े के साथ काम करने और कपड़े का उपयोग बहुत ही रचनात्मक और मूल तरीके से करने की कला आनी चाहिए। 
  • सफल फैशन डिजाइनरों के पास बहुत अच्छी दृश्य कल्पनाएँ होती हैं जिससे वह अपनी कल्पनाओं के द्वारा कपड़े के डिजाइन को सोच सके।
  • फैशन डिजाइनरों को फैशन बाजार की जरूरतों के बारे में सारी बात पता होना चाहिए। 
  • पत्रिकाओं और किताबों के आधार पर आपको नए नए फैशन डिजाइनिंग उद्योग की की चीजें सीखने की भूख होनी चाहिए।
  • आपको कला में भी आम तौर पर रुचि होनी चाहिए।
  • डिजाइनर को सिलाई का बुनियादी अनुभव और कपड़े के विभिन्न गुणवत्ता स्तरों के बीच अंतर बताने में सक्षम होना चाहिए।

यह भी पढ़ें: D Pharma Kya Hota Hai

फैशन डिजाइनिंग कोर्स क्या होता है?

फैशन डिजाइनर बनने के लिए फैशन डिजाइनिंग का कोर्स होता है जिस कोर्स करके कोई भी छात्र फैशन डिजाइनर बन सकता है। कोई भी छात्र अंडर ग्रेजुएट या पोस्ट ग्रेजुएट स्तर पर फैशन डिजाइन को एक कोर्स के रूप में कर सकते हैं।

fashion designing course kya hota hai

इसके अलावा फैशन डिजाइनर बनने के लिए इच्छुक फैशन डिजाइन के क्षेत्र में शॉर्ट टर्म डिप्लोमा या सर्टिफिकेट प्रोग्राम भी कर सकते हैं। भारत में विभिन्न कॉलेजों में किए जाने वाले फैशन डिजाइनिंग के कोर्स के नाम। 

ग्रेजुएशन स्तर पर लोकप्रिय फैशन डिजाइन पाठ्यक्रम

बैचलर ऑफ डिजाइन (बीडीएस) बैचलर ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी (बीएफटेक) बैचलर
मास्टर ऑफ डिजाइन (एमडीएस) मास्टर ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी (एमएफटेक)
मास्टर ऑफ फैशन मैनेजमेंट (एमएफएम)मास्टर ऑफ आर्ट्स (एमए)

इनमें से किसी भी कोर्स को करके आप फैशन डिज़ाइनर बन सकते हैं। याद रखें कि भी फैशन डिजाइनर का कोर्स आप तभी करें जब आपके पास वह सभी गुण उपलब्ध हैं जो एक अच्छे फैशन डिजाइनर की पहचान होती है।

यह भी पढ़ें: IELTS क्या है? IELTS Exam के पैटर्न और प्रकार तथा अन्य जानकारियां

फैशन डिजाइनर बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता क्या है?

जो भी उम्मीदवार फैशन डिजाइनर का कोर्स करना चाहते हैं उन्हें 12वीं कक्षा पास करनी होगी भले ही 12वीं कक्षा में आप किसी भी स्ट्रीम विज्ञान/ वाणिज्य/ कला से ही क्यों ना हो। अगर आप 12वीं कक्षा पास कर लेते हैं उसके बाद आप फैशन डिजाइनर का कोर्स करके फैशन डिजाइनिंग कर सकते हैं।

स्नातकोत्तर स्तर पर फैशन डिजाइनिंग के लिए, स्नातक स्तर पर डिजाइन पाठ्यक्रम पूरा करने वाले उम्मीदवारों को प्रवेश के लिए प्राथमिकता दी जाती है। अगर आपने ग्रेजुएशन कर ली है उसके बाद भी आप यदि फैशन डिजाइनर का कोर्स करना चाहते हैं तो आप कर सकते हैं।

भारत में फैशन डिजाइनिंग के लिए कॉलेज

भारत में फैशन डिजाइनिंग के लिए बहुत सारे कॉलेज मौजूद हैं जहां से आप फैशन डिजाइनिंग का कोर्स कर सकते हैं।

  1. NIFT Delhi
  2. NIFT Mumbai
  3. Not Participated
  4. NIFT Bengaluru
  5. NIFT Chennai
  6. NIFT Patna
  7. NIFT Gandhinagar
  8. NIFT Hyderabad
  9. NIFT Kolkata
  10. Symbiosis Institute of Design, Pune

यह भी पढ़ें: Normalization क्या है? नॉर्मलाइजेशन कैसे होता है और यह क्यों जरूरी है?

भारत में फैशन डिजाइनिंग में करियर है?

दुनिया के सबसे बड़े फिल्म उद्योगों में से एक के साथ, भारत में फैशन डिजाइनरों की भारी मांग बढ़ती जा रही है। विभिन्न भारतीय डिजाइनरों को अंतरराष्ट्रीय क्षेत्र में भी अत्यधिक लोकप्रियता मिली हुई है। भारतीय फैशन डिजाइनिंग उद्योग के विशाल आकार को देखते हुए, कोई भी आसानी से अनुमान लगा सकता है कि फैशन डिजाइन का भविष्य बहुत ही अच्छा है।

फैशन डिजाइनर बनके आप अपने खुद का फैशन ब्रांड खोल सकते हैं। फैशन डिजाइन के इच्छुक लोग के लिए हमेशा यह एक अच्छा विकल्प होता है। अगर आप अपने खुद के फैशन ब्रांड चालू करते हैं तो यह आपको छोटे-मोटे शहरों से लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर तक लोकप्रियता दिलाती है।

भारत में बहुत सारे ई-कॉमर्स कंपनी भी उपलब्ध है जहां पर उनके खुद के फैशन डिजाइनर उपलब्ध होते हैं। इसलिए फैशन डिजाइनर करियर का भारत में भविष्य अच्छा है और भारत में एक अच्छे फैशन डिजाइनर के लिए नौकरी की कोई कमी नहीं है।

यह भी पढ़ें: फिल्म डायरेक्टर का कोर्स करके डायरेक्टर कैसे बने

भारत में सबसे अच्छे फैशन डिजाइनरों के नाम

  • मनीष मल्होत्रा
  • ​​​​तरुण तहिलियानी
  • वेंडेल रॉड्रिक्स
  • अबू जानी और संदीप खोसला
  • रीना ढाका
  • मनीष अरोड़ा
  • रोहित बल
  • रितु बेरी
  • सब्यसाची
  • रितु कुमार

इन डिजाइनरों के काम और उपलब्धियां नियमित रूप से अंतरराष्ट्रीय फैशन समारोहों और शो में प्रदर्शित होते हैं क्योंकि इनकी प्रसिद्ध पूरे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फैली हुई है।

यह भी पढ़ें: Zomato Delivery Boy Kaise Bane Apply Incentives And Salary

प्रश्न और उत्तर

फैशन डिजाइनिंग में क्या होता है? 

फैशन डिजाइनिंग में आपको कपड़ों को डिजाइन करने के लिए सिखाया जाता है लेकिन इनमें डिजाइन किया गया कपड़ा एक विशेष प्रकार का होता है क्योंकि यह दूसरे डिजाइनओं की तुलना में मेल नहीं खाता है। 

फैशन डिजाइनर की सैलरी कितनी होती है? 

फैशन डिजाइनर की कोई सैलरी सीमा नहीं दी गई है लेकिन एक सामान्य फैशन डिजाइनर ₹200000 से ₹500000 तक प्रति महीने कमा लेता है। अगर आप की प्रसिद्ध फैशन डिजाइनिंग में बढ़ती है तो आप करोड़ों रुपए सैलरी के रूप में ही कमा सकते हैं।

फैशन डिजाइनिंग पाठ्यक्रम में दाखिला लेने के लिए योग्यता क्या है? 

फैशन डिजाइनिंग पाठ्यक्रम में दाखिला लेने के लिए कम से कम 12वीं पास 50% अंकों के साथ होना चाहिए तब जाकर आप फैशन डिजाइनिंग का कोर्स कर सकते हैं और उस पर आधारित पाठ्यक्रम का अनुसरण कर सकते हैं। 

फैशन डिजाइनिंग की शुरुआत कहां से हुई? 

फैशन डिजाइनिंग की शुरुआत फ्रांस से हुई थी और आज भी सबसे बड़ा फैशन डिजाइनिंग समारोह फ्रांस में ही होता है।

बॉलीवुड में सबसे मशहूर फैशन डिजाइनर कौन है?

बॉलीवुड में सबसे मशहूर फैशन डिजाइनर मनीष मल्होत्रा है जिन्होंने अपने कार्य से सभी को प्रभावित किया है और अंतरराष्ट्रीय स्तर तक अपनी प्रसिद्ध कायम की है। 

यह भी पढ़ें: Photographer Kaise Bane

निष्कर्ष

अगर आप एक ऐसे छात्र हैं जो अपनी रूचि फैशन डिजाइनिंग में रखता है तो आपको जरूर इस दिशा में आगे बढ़ना चाहिए और फैशन डिजाइनिंग के अपनी कला को ऊपर तक लेकर जाना चाहिए। फैशन डिजाइनिंग का कोर्स आपके लिए फैशन डिजाइनर बनने का एक सीडी साबित हो सकता है।

हमें आशा है कि आप को फैशन डिजाइनिंग क्या होता है और फैशन डिजाइनर के लिए कोर्स और कॉलेज भारत में कहां कहां है इससे संबंधित यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी।

फैशन डिजाइनिंग से संबंधित या जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ नीचे दिए गए फेसबुक और व्हाट्सएप के बटन को दबाकर अभी शेयर करें ताकि फैशन डिजाइनिंग के अपार करियर के बारे में सभी को पता चल सके।

फैशन डिजाइनिं क्या होता है और फैशन डिजाइनिंग कोर्स क्या है से संबंधित कोई भी प्रश्न आपके मन में हो तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर बता सकते हैं हम उसका उत्तर आपको अवश्य देंगे।

इसी प्रकार की शिक्षा से भरी हुई रोचक जानकारियों को रोजाना अपने मोबाइल फोन पर प्राप्त करने के लिए आप हमारे वेबसाइट को बिल्कुल मुफ्त में सब्सक्राइब कर सकते हैं। इसके अलावा और भी जानकारियों को अभी पढ़ने के लिए newinhindi.in पर जाएं।

1 thought on “Fashion Designing क्या होता है? फैशन डिजाइनर के लिए कोर्स और कॉलेज ”

Leave a Comment

error: जानकारी सुरक्षित है