होम » जानकारी » भारत की 10 सबसे ताकतवर जाति कौन सी है? जो अत्यंत प्रभावशाली है।

भारत की 10 सबसे ताकतवर जाति कौन सी है? जो अत्यंत प्रभावशाली है।

आज हम जानेंगे भारत की सबसे ताकतवर जाति कौन सी है? (Bharat Ki Sabse Takatvar Jaati) भारत के पावरफुल जाति के इस जानकारी को हम भारत के इतिहास के आधार पर बताएंगे जिससे आपको सही सही जानकारी मिल सके।

जब आप यह जान लेंगे कि भारत की सबसे ताकतवर जाति कौन सी है? तब आपको इसके आधार पर ही यह पता चल जाएगा कि भारत का सबसे ताकतवर राज्य कौन सा है?

भारत का इतिहास अत्यंत शक्तिशाली रहा क्योंकि इसमें भाग लेने वाले सभी लोग ताकतवर जाति से संबंध रखते थे, तो आइए जानते हैं भारत की 10 सबसे ताकतवर जाति कौन सी है।

भारत की 10 सबसे ताकतवर जाति

यहां हमने भारत की 10 सबसे ताकतवर जाति की सूची दे रखी है जो घटते क्रम में है और यह सूची उन जातियों के इतिहास के आधार पर बनाई गई है जिससे आपको सही जानकारी मिलेगी।

bharat ki sabse takatvar jaati

किसी भी जाति का तुलना करना आसान नहीं है लेकिन हमें हमारा इतिहास इस चीज को सरलता से करने की अनुमति देता है, तो आइए जानते हैं भारत की सबसे ताकतवर जाति कौन सी है? (Bharat Ki Sabse Takatvar Jaati)

1. ब्राह्मण

ऐसा मानव जो स्वयं ब्रह्मा के समान उसे ब्राह्मण कहते हैं इनमें अत्यधिक बुद्धि और शक्ति होती है भारतीय इतिहास में इस जाति को सर्वोपरि बताया गया है जो राजा से भी बढ़कर है इसलिए यह भारत की सबसे ताकतवर जाति मानी जाती है।

राजा अपने दरबार के ब्राह्मण के इजाजत के बिना कोई कार्य नहीं करते थे तथा सभी प्रकार के कार्यों में ब्राह्मण का परामर्श और आशीर्वाद जरूर लेते थे।

ब्राह्मण जातियां भारत के उत्तर प्रदेश, बिहार, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और हरियाणा जैसे राज्यों में अधिक पाया जाता है।

ब्राह्मण जातियों के अंतर्गत आने वाले उपनाम है: शर्मा, मिश्रा, पांडे, चतुर्वेदी, भारद्वाज, कश्यप, त्रिपाठी, पंडित, ठाकुर आदि।

यह भी पढ़ें:  उत्तर प्रदेश का सबसे दबंग जिला कौन सा है?

2. राजपूत

राजपूत का अर्थ होता है राजा का पुत्र अर्थात ऐसा व्यक्ति जो किसी शासन करने वाले व्यक्ति का वंश हो तो उसे राजपूत कहेंगे, भारत में राजपूत का इतिहास बहुत शक्तिशाली रहा है इसलिए यह भारत का दूसरा सबसे ताकतवर जाति माना जाता है। 

इनके अंदर शारीरिक ताकत और निर्णय लेने की शक्ति बहुत अच्छी होती है बचपन से ही इन्हें युद्ध से जुड़ी हुई गतिविधियां अच्छी लगती है।

यह ताकतवर जाति भारत के बिहार, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश और पंजाब जैसे राज्यों में पाया जाता है।

राजपूत जातियों के अंतर्गत आने वाले उपनाम है: राजपूत, सिंह, चौहान, मौर्य, ठाकुर, चौधरी आदि।

3. भूमिहार

भूमिहार का अर्थ होता है भूमि का मालिक अर्थात जिसके पास अधिक भूमि होती है उसे भूमिहार कहते हैं अंग्रेजी शासन में भूमिहार बहुत शक्तिशाली हुआ करते थे तथा इनके पास अत्यधिक भूमि और शक्ति होने की वजह से उन्हें भारत की सबसे ताकतवर जाति में से एक माना जाता है।

इनके पास काफी धन और संपत्ति होता है जिसकी वजह से आज के समय में कई सारे व्यापारी भूमिहार जाति से संबंध रखते हैं।

यह ताकतवर जाति भारत के बिहार, उत्तर प्रदेश और झारखंड जैसे राज्यों में अधिक पाई जाती है।

भूमिहार जातियों के अंतर्गत आने वाले उपनाम: ठाकुर, सिंह, चौधरी, राजपूत, देवा आदि।

यह भी पढ़ें: क्रिकेट की दुनिया का 10 सबसे घटिया बैट्समैन कौन है?

4. अहीर

अहीर जाति का मुख्य पेशा पशुपालन होता है और यह शारीरिक शक्ति से काफी बलशाली होते हैं इनमें अत्यंत साहस और पराक्रम होता है जिसकी वजह से यह भारत की सबसे ताकतवर जातियों में गिनी जाती है।

महाराजा यदु के वंशज को अहीर कहते हैं जो एक चंद्रवंशी ऐतिहासिक राजा थे जिन्होंने भारत के कई हिस्सों पर अपना राज चलाया।

यह ताकतवर जाति भारत के बिहार, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली आदि राज्यों में अधिक पाई जाती है।

अहीर जाति के अंतर्गत आने वाले उपनाम: यादव, सिंह, राव, प्रताप, चौधरी आदि।

5. सिख

सिख धर्म को मानने वाले को सीख कहते हैं भारतीय इतिहास में उनका योगदान अत्यंत साहसी पूर्ण रहा है और अभी के समय में भी इनके पास धन संपत्ति के साथ साथ अच्छी शारीरिक शक्ति भी होती है।

bharat ki sabse takatvar jaati

भारतीय इतिहास के कई सारे महत्वपूर्ण युद्ध में सिख जाति की उपस्थिति मिलती है इन सब के कारण सीख जाती भी भारत की सबसे ताकतवर जाति (Bharat Ki Sabse Takatvar Jaati)  में शामिल है। 

यह ताकतवर जाति भारत के पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों में अधिक देखने को मिलती है।

सीख जाती के अंतर्गत आने वाले उपनाम: सिंह, देवल, रंधावा, संधु, गिल, प्राक आदि।

यह भी पढ़ें: दुनिया की 10 सबसे महंगी साइकिल

6. कुर्मी

कुर्मी शब्द कृषि शब्द से लिया गया है ऐसा माना जाता है कि कुर्मी जाति का मुख्य पेशा कृषि है भारत के इतिहास में उज्जैन में होने वाले विद्रोह में कुर्मी जातियों ने राजपूतों के साथ मिलकर लड़ाई की थी, इस तरह के पर आकर भी इतिहास होने के कारण कुर्मी जाति को भारत की सबसे ताकतवर जाति में से एक माना जाता है। 

भारत के आजादी में भी अंग्रेजो के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में कुर्मी जाति का बहुत बड़ा योगदान रहा, कुर्मी जातियां से जुड़े हुए लोग अत्यंत साहसी एवं बलवान होते हैं।

यह ताकतवर जाति भारत के बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश और हरियाणा में पाई जाती है

कुर्मी जाति के अंतर्गत आने वाले उपनाम: रावत, सेन, पटेल

7. जाट

प्राचीन काल में जाट जातियां युद्ध कला में बहुत अच्छी हुआ करती थी और यही कारण है कि आज भारतीय सेना में इनकी खुद की जाट रेजीमेंट है इनके साहसी स्वभाव एवं युद्ध कला की निपुणता के कारण इसे भारत की सबसे ताकतवर जाति में से एक मानी जाती है ।

जाट जातियां मुख्यतः हिंदुओं में पाई जाती है लेकिन इसके अलावा यह सिख और मुस्लिम धर्म में भी मौजूद है।

यह ताकतवर जातियां भारत के हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश जैसे राज्यों में पाई जाती है

जाट जाति के अंतर्गत आने वाले उपनाम: चौधरी, देशवाल, मल, भुल्लर, ढिल्लों, पुनिया, रंधावा, नेहरा, महाल, मान और बग्गर आदि।

यह भी पढ़ें: इंस्टाग्राम पर सबसे ज्यादा फॉलोअर्स किसके हैं? 

8. गुज्जर 

भारतीय इतिहास में गुर्जर एक प्रतिष्ठित जाती है जिनके पास अच्छी युद्ध कौशल और शारीरिक शक्ति होती है जिसकी वजह से यह काफी ताकतवर और प्रभावशाली होते हैं।

गुर्जर जातियों की मुख्य पेशा पशुपालन और खेती बाड़ी होती है इसके अलावा भारतीय सेना में गुर्जर जातियों की अच्छी-खासी संख्या देखने को मिलती है क्योंकि यह भारत की सबसे ताकतवर जाति में से एक है।

यह ताकतवर जातियां भारत के दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और जम्मू कश्मीर जैसे राज्यों में अधिक होती है।

गुज्जर जाति के अंतर्गत आने वाले उपनाम: गुर्जर, कनिष्क, राज, कनिष्क, कुषाण, आर्यन

9. मीणा

मीणा जाति भारत के प्राचीन जातियों में से एक मानी जाती है यह मुख्य रूप से मत्स्य पालन और पशुपालन करते हैं लेकिन इसके अलावा इनमें अत्यंत साहस और वीरता होती है जिसकी वजह से यह भारत के सबसे ताकतवर जातियों में गिनी जाती है।

मीणा जाति को राजस्थान के ऐतिहासिक शासकों में भी गिना जाता है जो राजस्थान के कई भाग पर राज करते थे।

यह ताकतवर जाति भारत के राजस्थान, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में पाए जाते हैं।

मीणा जाति के अंतर्गत आने वाले उपनाम: मीना, मान आदि

यह भी पढ़ें: भारत का 10 सबसे अधिक जनसंख्या वाला राज्य कौन है? 

10. रेड्डी

विजयनगर राज्य में रेड्डी जाति का उदय हुआ यह जाति अत्यंत साहसी और बलवान तथा पराक्रमी होते थे शुरुआत में रेड्डी जाति को शासक के रूप में नहीं माना जाता था बाद में उन्होंने अपने बल का प्रदर्शन करके हासिल कर लिया इसलिए रेड्डी जाति को भारत की सबसे ताकतवर जाति में से एक माना जाता है।

इनके शासकों में नरसिम्हा रेड्डी का नाम बहुत प्रसिद्ध है क्योंकि इतिहास में हमें इनके पराक्रम और साहस के सबूत मिलते हैं, यही सब कारण है रेड्डी Bharat Ki Sabse Takatvar Jaati है।

रेड्डी जाति भारत के आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, केरल आदि राज्यों में पाए जाते हैं।

रेड्डी जाति के अंतर्गत आने वाले उपनाम: रेड्डी, सोमणाद्री आदि।

यह भी पढ़ें: मेरा पढ़ाई में मन नहीं लगता क्या करूं का जवाब

प्रश्न और उत्तर

भारत की सबसे ताकतवर जाति कौन सी है?

भारत की सबसे ताकतवर जाति ब्राह्मण है जो पूरे भारतवर्ष पर अपनी अच्छी पकड़ रखता है, ब्राह्मण जाति के लोगों के पास अत्यंत बुद्धि और साहस बल होता है जिसकी वजह से यह जाति सर्वश्रेष्ठ है।

भारत का सबसे दबंग जाति कौन सा है?

भारत का सबसे दबंग जाति राजपूत है जो बहुत पराक्रमी और बलवान होते हैं इनमें युद्ध कला की कोई कमी नहीं होती है, भारतीय इतिहास में अधिकांश राजा राजपूत जाति से संबंध रखते थे।

भारत का सबसे ताकतवर राज्य कौन सा है?

यदि हम भारत के सबसे ताकतवर राज्य की बात करें तो वह मुंबई है क्योंकि वहां असीमित पैसा है साथ ही वह बहुत ताकतवर लोग रहते हैं जो बहुत पावरफुल है।

भारत की सबसे बेस्ट जाति कौन सी है?

भारत की सबसे बेस्ट जाति ब्राह्मण है क्योंकि उनके पास सबसे अधिक बुद्धि और साहस होता है साथ ही उनके एकाग्र होने की क्षमता इन्हें और खास बनाती है और यह कभी मांसाहार नहीं खाते हैं जो जानवर की क्षति होने से बचाता है।

यह भी पढ़ें: सबसे ज्यादा कैशबैक देने वाला ऐप 

निष्कर्ष

यदि हम वर्तमान भारत की बात करें तो किसी भी व्यक्ति की जाती उनके काम से निर्धारित होती है यदि कोई पूजा कराता है तो वह ब्राह्मण और कोई युद्ध लड़ता है तो उसे राजपूत कहते हैं, अब उनकी जातियों को नहीं देखा जाता है।

वर्तमान समय में कोई भी जाति छोटी या बड़ी नहीं होती है सभी जातियों के पास अभी अपने निर्णय लेने का समान अधिकार है तो यह कहना गलत होगा कि कोई जाति सबसे बड़ी है।

दोस्तों अगर आपको हमारी भारत की सबसे ताकतवर जाति कौन सी है (Bharat Ki Sabse Takatvar Jaati) और भारत की सबसे दबंग जाति कौन सी है? के बारे में यह जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर करें।

भारत की सबसे ताकतवर जाति (Bharat Ki Sabse Takatvar Jaati) के विषय में आपका कोई सुझाव या प्रश्न हो तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर बता सकते हैं हम उस पर अपनी प्रतिक्रिया अवश्य देंगे।

इसी प्रकार की रोचक जानकारियों को रोजाना पढ़ने के लिए आप हमारे वेबसाइट को सब्सक्राइब कर सकते हैं जिससे रोजाना की जानकारियां आप के फोन पर उपलब्ध हो जाएगी।

52 thoughts on “भारत की 10 सबसे ताकतवर जाति कौन सी है? जो अत्यंत प्रभावशाली है।”

  1. Jaat hai sabse jyda takatwer

    • मोहित जी, हो सकता है वर्तमान में आपके क्षेत्र में जाट सबसे अधिक ताकतवर जाति हो, लेकिन यह जानकारी इतिहास की तुलना करके बनाई गई है।

    • मोहित जी, हो सकता है वर्तमान में आपके क्षेत्र में जाट सबसे अधिक ताकतवर जाति हो, लेकिन यह जानकारी इतिहास की तुलना करके बनाई गई है।

  2. Sabse takatwar Bhumihaar hai

    • आपके जिले के अनुसार यह जाती ताकतवर हो सकती है।

  3. भारत की जातियों के विषय में अच्छी जानकारी मिली

    • सिंह जी, हमें यह जानकर खुसी हुई की आपको हमारे भारत की ताकतवर जातियों के ऊपर यह जानकारी अच्छी लगी।

  4. Kathi bhi isme aate hai

    • सत्यजीत जी, सुझाव देने के लिए धन्यवाद हम इसे अवश्य ही जोड़ेंगे।

  5. सर,सबसे लढाऊ, क्षत्रिय,प्रतिष्ठीत ,परख्यात जाती मराठा है, जिसमे शिवाजी महाराज,संभाजी महाराज जैसे नररत्ने पैदा हुवे,लेकीन मराठा जतिका काहीभी उल्लेख नही,हे बडी आश्चर्य की बात है

    • कैलाश जी, आपने जिन महान पुरुषों का नाम लिया है वो राजपूत जाति के अंतर्गत आते हैं और हमने राजपूत जाति को अपने भारत के ताकतवर जाति की इस सूची में पहले ही शामिल कर रखा है। लेकिन हम मराठों की महानता का उल्लेख एक अलग बिंदु में अवश्य करेंगे।

  6. इस मे शुद् जाती का भी कोई चर्चा है

    • संजीव जी, हमने इस आर्टिकल में केवल 10 सबसे ताकतवर जाति को रैंकिंग के हिसाब से सजाया है लेकिन हम और भी शक्तिशाली जातियों के ऊपर अध्ययन कर रहे हैं जिसके बाद हम इस सूची को और बढ़ाएंगे और उसमें शूद्र जाति को जरूर सम्मिलित किया जाएगा।

  7. Bahut badhiya bhai shayad aap nahi jante desh mai सबसे दबंग जाती में क्षत्रिय जाती राजपूत और मराठा है ।
    1.राजपूत 2. मराठा 3. ब्राह्मण 4.जाट 5.रेड्डी यही देश की सबसे बडी दबंग जाती है।
    महाराणा प्रताप और छत्रपति शिवाजीराजे के बिना इस देश का वर्णन नही हो सकता।

    • तुषार जी, आपने शायद इस आर्टिकल के संदर्भ को नहीं समझा है, हमने इतिहास के औसतन विशेषताओं के आधार पर इस जानकारी को पेश किया है।

      जैसा कि आपने कहा महाराणा प्रताप और छत्रपति शिवाजी के बिना हमारे इतिहास का वर्णन नहीं हो सकता है मैं इस बात को मानता हूं लेकिन क्या आपने कभी यह सोचा है इन दोनों को ऐसे बनाने वाले कौन थे तो मैं आपको बता दूं आचार्य राघवेंद्र जी ने महाराणा प्रताप को और छत्रपति शिवाजी को संत रामदास ने बनाया, जो जाति से ब्राह्मण थे।

      हमने केवल वीरता और साहस के आधार पर इस जानकारी को पेश नहीं किया है बल्कि हमने इसे हमारे भारतीय इतिहास में किन-किन जातियों का योगदान सबसे अधिक रहा है इस आधार पर पेश किया है।

  8. UCH NICH JATI SOCH KE KARAN AJJ HAMARA BHARAT DESH VIKASH SHIL ME HAI

    • प्रकाश जी, आपका कहना बिल्कुल सही है जाति के मतभेद हमारी एकता पर सवाल उठता है इसलिए हम किसी भी प्रकार से जातिवाद का समर्थन नहीं करते हैं यह जानकारी केवल ऐतिहासिक आधार पर था।

  9. ताकतवर और बुद्धिमान होते तो अंग्रेज और मुगल भारत में कभी राज नही कर पाते मुसलमानों में सबसे ज्यादा राजपूत और ब्राह्मण गौत्र ही मिलेंगे जो इनकी बहादुरी का ढोंग बताने के लिए काफी है हां कुछ राजाओ ने संघर्ष किया लेकिन स्वार्थ के अंधे लोगो ने उनका साथ नही दिया साथ देने वाले किसान आदिवासी लोग ही थे जो महाराणा प्रताप के साथ डट कर खड़े रहे

    • यह पूर्णता सच है कि आदिवासी लोगों ने महाराणा प्रताप के साथ मिलकर विरोधियों के साथ युद्ध किया इसलिए हम आपके भावनाओं और शब्दों का सम्मान करते हैं। हम जातिवाद को किसी भी तरीके से बढ़ावा नहीं देते हैं हमारा मकसद केवल इतिहास के आधार पर चीजों को आपके सामने रखना है। वर्तमान भारत जातिवाद से मुक्त है और सभी जाति समान है।

  10. जाति का उल्लेख करना हमारी मानसिकता बताता है। इसी कारण हम गुलाम रहे, आज भी अलग थलग बिखरे पड़े हैं मैं जाट हूं।लेकिन हमें ऐक रहना है तो सिर्फ हिंदू उच्चारण करना होगा। ताकतवर वह होता है जो विपत्ति में अपनो के साथ खड़ा हो।

    • सुखाराम जी, आपने बिल्कुल सही कहा जाति पाति हमारे मध्य मतभेद को बढ़ाता है इसलिए हमें कभी भी जाति विशेष पर ज्यादा ध्यान नहीं देना चाहिए। इस जानकारी का मकसद जातिभेद को बढ़ाना नहीं है केवल इतिहास की कुछ जानकारियों को लोगों के सामने प्रस्तुत करने का था।

  11. Ethas chatreo kea prakrmo sea bhra hua h

    • सचिन जी, कोई भी व्यक्ति केवल क्षत्रिय जाति से संबंध रखने से वह साहसी और युद्ध के गुणों से कुशल नहीं हो जाता उसे एक सही मार्गदर्शन की जरूरत पड़ती है इसलिए इस मार्गदर्शन को हमेशा से ब्राह्मणों ने प्रस्तुत किया है।

  12. मौर्य जाति किस स्थान पर है

    • सुजीत मौर्य जी मैं आपको बताना चाहूंगा कि मौर्य जाति क्षत्रिय से संबंध रखते हैं। भारतीय इतिहास में मौर्य जाति को एक सशक्त योद्धा की तरह देखा जाता है और इसलिए यह एक राजपूत जाती है।

  13. मीणा सबसे अधिक लड़ाकू कॉम की जाति है डरती नहीं है किसी से हमारे एरिया में सारे मीणा लोग रहते हैं और सारी जातियां डरती है हमसे मीणाओं के 52 सौ से अधिक गोत्र है

    • नितेश जी, वर्तमान में आपके क्षेत्र में इस प्रकार की चीजें हो सकती है पर हम ने इन सभी जातियों की जानकारी केवल इतिहास के विशेषताओं के आधार पर दिया है।

      हम किसी भी तरीके से जातिवाद तो समर्थन नहीं देते हैं हमारे नजर में सभी जातियां एक समान है, इस जानकारी को प्रस्तुत करने का मकसद केवल जाति से जुड़े हुए ऐतिहासिक विशेषताओं को आप सभी के सामने रखना था।

  14. Saari jatiya dabang hai but yrr arkhvanshi kshatriya bhi kya rajput hai

    • अतुल जी, अर्कवंशी भी क्षत्रिय होते हैं और यह एक राजपूत जाति है। पुराने समय में यह भगवान शिव के उपासक हुआ करते थे।

  15. डांगी कास्ट के ऊपर भी कुछ रिसर्च कीजिए भाई प्लीज

    • तूफान डांगी पटेल जी, डांगी जाति को भारत सरकार ने OBC श्रेणी में रखा है और यह मुख्यता गुज्जर जाति से संबंध रखते हैं। यह जाति बिहार, उत्तर प्रदेश और राजस्थान में पाए जाते हैं।

  16. Brahman jati mei top 3 sir name kya hai

    • जतिन कौशिक जी आप सरनेम पर मत जाइए क्योंकि सरनेम जाति के अंदर आता है उदाहरण के तौर पर अगर आप एक ब्राह्मण जाति से हैं तो आप केवल एक ब्राह्मण हैं। जाति के अंदर आने वाले सरनेम मैं कोई छोटा और बड़ा नहीं होता है।

  17. असली क्षत्रिय मीणा को बताया जाता है क्योंकि प्राचीन काल से मैंने जो इतिहास पढ़ा जी उसमें मीणाओ के ही शासक ज्यादा सुने है। जिनकी बाद में लोगों ने जाती बदल दी है। जय मीणा जय राजपूताना

  18. ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र कोई जाति नही है बल्कि वर्ण का नाम,
    ब्राह्मण एक सर्वश्रेष्ठ पद है जिसे किसी भी वर्ण का व्यक्ति कठिन जप तप ,वेद अभ्यास के परिश्रम द्वारा ब्राह्मणत्व को प्राप्त कर सकता है, जैसे, महर्षि वेद व्यास, बाल्मीकी जी, संत रविदास जी , विश्वामित्र जन्म से क्षत्रिय और कर्म से ब्राह्मण थे! श्री परशुराम जी जन्म से ब्राह्मण और कर्म से क्षत्रिय थे!

    कोई मनुष्य जन्म और जाति से छोटा या बड़ा जाति से नही होता है बल्कि कर्म, ज्ञान और उपयोगिता ही मनुष्य को श्रेष्ठ बनाती है!

    जन्म जायेते शूद्रः! जन्म से सभी शूद्र है!

    जय श्री राम 🚩🙏

    • मुकेश जी, एकदम सही बात कही है आपने

  19. Yadav jati bharat ke sabase takat wale hote hai .inme yudh jitne ki sakti hota hai .waise ab koi bhi jati ko kamjor nahi kah sakte hai .aur jati wad nahi karana chahiye isase hindu kamjor hota hai

    • आपने सही कहा है लेकिन जातिवाद से केवल हिंदू ही कमजोर नहीं हो रहे हैं बल्कि हमारा देश भी कमजोर हो रहा है।

  20. in 10 cast me se kashtriya cast kon kon si he

    • इन 10 जाति में राजपूत जाति क्षत्रिय से संबंधित है

  21. gurjar pratihar vansh kis cast se sambandh rakhta he

    • गजेंद्र जी, प्रतिहार एक क्षत्रिय जाति है जो प्राचीन प्रतिहार राजवंश से संबंध रखती है।

  22. वर्तमान में सबसे ताकतवर जाति राजपूत, ब्राह्मण बणिये हैं। इस बात को आज भी हमारे संविधान में मान्यता दी गई है। शेष जातियां चाहे जो कोई सी भी हो उनका स्थान इनसे नीचे ही आता है।इन तीनों जातियों को किसी भी प्रकार का आरक्षण संविधान में नहीं दिया गया है बाकी समस्त जातियां आरक्षण का भरपूर लाभ उठा रही हैं अतः उनका स्थान प्रभावशाली व ताकतवर जातियों में ऊपर नहीं हो सकता।

    • देशराज जी, मैं आपकी बात से बिल्कुल सहमत हूं वर्तमान परिस्थितियों के आधार पर आपके विचार सही हैं और हमारे संविधान में भी इसी चीज को दर्शाया गया है।

  23. भारत में तीन सबसे गंदी जाती ब्राह्मण, राजपूत और बनियें हैं ये तीनों जातिगत आधार पर भेदभाव करती हैं और रही बात आरक्षण की बेसक OBC/SC/ST को आरक्षित कहा जाता ह लेकिन सबसे ज्यादा आरक्षित ब्राह्मण, बनिये, राजपूत हि हैं क्योंकि इनकी जनसंख्या कम ह और इनको 50%आरक्षण मिलता ह जब की बाकि 50% में देश कि जनसंख्या का 70% OBC/SC/ST, women, ex service person, sports person etc. आते हैं और रहि तीनों जातियां हिंदू धर्म को खत्म करेंगी इनके जातिगत शोषण के कारण लोग हिंदू धर्म को ठोकर मारी रहे।
    ब्राह्मणों और BJP/RSS सरकार द्वारा जातिगत आधार पर प्रताड़ित OBC

  24. I completely agree with you

    • Thanks Vaibhav!

  25. Duniya ki sabsey khrab parjatti
    Brahman jatti
    I hate brahman forever endeavour.

    • Kyu Gaurav Bhai?

  26. Hum sabhi sanatani h….sab ek h…bss ye yaad rakho…koi jati nhi sabhi hindu h

Leave a Comment

error: जानकारी सुरक्षित है