होम » शिक्षा » भारत में अंतर राज्य परिषद क्या है और इस का अध्यक्ष कौन होता है?

भारत में अंतर राज्य परिषद क्या है और इस का अध्यक्ष कौन होता है?

दोस्तों अगर आप एक छात्र या फिर देश के जागरूक नागरिक है तो आपके पास भारत में अंतर राज्य परिषद का अध्यक्ष कौन होता है? इसकी जानकारी होनी चाहिए क्योंकि यह हमारे देश कि विकास से संबंधित है।

bharat mein antar rajya parishad ka adhyaksh kaun hota hai

आज हम भारत के अंतर राज्य परिषद को विशेष रूप से जानेंगे और इस का अध्यक्ष कौन होता है यह भी जानेंगे, क्योंकि हाल ही में सरकार ने इसे पुनर्गठित किया है।

इससे पहले कि हम अंतर राज्य परिषद के बारे में विस्तृत रूप से जाने हम यह जानेंगे कि Bharat Mein Antar Rajya Parishad Ka Adhyaksh Kaun Hota Hai?

भारत में अंतर राज्य परिषद का अध्यक्ष कौन होता है?

भारत में अंतर राज्य परिषद का अध्यक्ष “भारत का प्रधानमंत्री” होता है और इसकी अध्यक्षता में भारत के विभिन्न राज्यों के बीच के संबंध की जांच और नीतियों पर परामर्श किया जाता है।

वर्तमान में भारत के अंतर राज्य परिषद का अध्यक्ष ”नरेंद्र दामोदरदास मोदी” है।

अंतर राज्य परिषद का मुख्य अध्यक्ष “भारत का प्रधानमंत्री” होता है और सदस्य के रूप में भारत के केंद्रीय मंत्री और सभी राज्यों के मुख्यमंत्री को चुना जाता है।

अंतर राज्य परिषद एक अनुशासनात्मक निकाय है जो ऐसे विषयों पर चर्चा करता है जो सभी राज्यों के हित को एक समान रूप से प्रभावित करेगा।

यह भी पढ़ें: भारत के 29 राज्य और राजधानी के नाम

अब तक आपने जाना भारत में अंतर राज्य परिषद का अध्यक्ष कौन होता है? (Bharat Mein Antar Rajya Parishad Ka Adhyaksh Kaun Hota Hai) अब हम जानेंगे भारत का अंतर राज्य परिषद क्या है?

भारत में अंतर राज्य परिषद क्या होता है? (What Is Indian State Council)

भारत का अंतर राज्य परिषद एक संवैधानिक निकाय है जिसे भारत के संविधान के अनुच्छेद 263 में दिए गए प्रावधान के आधार पर गठित किया जाता है जिसकी अध्यक्षता भारत के प्रधानमंत्री करते हैं और इसमें ऐसे विषयों पर चर्चा की जाती है जो सभी राज्यों के हितों पर समान प्रभाव डालती है।

हिंदी में: भारतीय अंतर राज्य परिषद
इंग्लिश में: Indian State Council

अंतर राज्य परिषद में भारत के सभी राज्यों के मुख्यमंत्री एवं भारतीय केंद्र मंत्री शामिल होते हैं साथ ही केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री को भी शामिल किया जाता है।

भारत के अंतर राज्य परिषद को भारत के सचिवालय द्वारा सहायता प्रदान किया जाता है जिसका अध्यक्ष भारत का सचिव होता है।

यह भी पढ़ें: भारत के राष्ट्रपति का चुनाव कैसे होता है?

वर्तमान भारत में अंतर राज्य परिषद के सदस्य

वर्तमान भारत में अंतर राज्य परिषद के पुनर्गठन के बाद सदस्यों में बदलाव किया गया है जो कुछ इस प्रकार से हैं।

प्रधानमंत्री को अध्यक्ष के रूप में और देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों और 6 केंद्रीय मंत्रियों को अंतर राज्य परिषद के सदस्य के रूप में पुनर्गठित किया गया है।

प्रधानमंत्री “नरेंद्र मोदी” की अध्यक्षता में भारतीय अंतर राज्य परिषद के सदस्य के रूप में 6 केंद्रीय मंत्रियों को चुना गया है जिनके नाम नीचे दिए गए हैं।

अंतर राज्य परिषद के सदस्यों के रूप में 6 केंद्रीय मंत्रियों के नाम:

  1. अमित शाह (गृह मंत्री)
  2. राजनाथ सिंह (रक्षा मंत्री)
  3. निर्मला सीतारमण (वित्त मंत्री)
  4. नरेंद्र सिंह तोमर (कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री) 
  5. थावर चंद गहलोत (सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता)
  6. हरदीप सिंह पुरी (आवास एवं शहरी मामले)

इन 6 नामों के अलावा भारत के सभी राज्यों के मुख्यमंत्री भी भारतीय अंतर राज्य परिषद के सदस्य के रूप में शामिल है।

यह भी पढ़ें: बिहार में कुल कितने प्रमंडल है?

भारत के अंतर राज्य परिषद से जुड़े हुए तथ्य

नीचे हमने कुछ बिंदुओं में भारत में “अंतर राज्य परिषद” से जुड़े हुए तथ्यों को बताया है जिससे आप इसके बारे में आसानी से महत्वपूर्ण चीजों को जान सकते हैं।

  • 25 मई 1990 को पहली अंतर राज्य परिषद की स्थापना की गई थी।
  • अंतर राज्य परिषद को भारतीय संविधान के अनुच्छेद 263 के अनुसार बनाया गया।
  • भारत में “अंतर राज्य परिषद” का अध्यक्ष भारत का प्रधानमंत्री होता है।
  • अंतर राज्य परिषद को भारत के सचिवालय द्वारा सहायता प्रदान की जाती है।
  • यह भारत के विभिन्न राज्यों के बीच के संबंध और उनके विकास पर परामर्श करता है।
  • अंतर राज्य परिषद सिर्फ भारत के सभी राज्यों के समान हितों वाली विषयों पर चर्चा करता है।

यह भी पढ़ें: भारत की सबसे ताकतवर जाति कौन सी है?

प्रश्न और उत्तर

अंतर राज्य परिषद क्या होता है?

अंतर राज्य परिषद एक संवैधानिक निकाय है जो सभी राज्यों के समान हितों पर विचार विमर्श करता है।

भारत में अंतर राज्य परिषद का अध्यक्ष कौन होता है?

भारत में अंतर राज्य परिषद का अध्यक्ष भारत का प्रधानमंत्री होता है इसके अलावा इस परिषद में सदस्य के रूप में देश के सभी मुख्यमंत्री और कुछ केंद्रीय मंत्री शामिल होते हैं।

पहली बार भारतीय अंतर राज्य परिषद का गठन कब किया गया?

पहली बार भारत में अंतर राज्य परिषद का गठन 25 मई 1990 को किया गया था।

वर्तमान भारत में अंतर राज्य परिषद का अध्यक्ष कौन है?

वर्तमान भारत में अंतर राज्य परिषद का अध्यक्ष “ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी” है. इसके अलावा अंतर राज्य परिषद की स्थाई समिति का अध्यक्ष अमित शाह है।

अंतर राज्य परिषद की स्थाई समिति का अध्यक्ष कौन है?

भारत के अंतर राज्य परिषद की स्थाई समिति का अध्यक्ष अमित शाह है जो हमारे भारत के गृह मंत्री हैं।

यह भी पढ़ें: पद्मश्री पुरस्कार क्या होता है एवं इस अवार्ड में क्या-क्या मिलता है?

निष्कर्ष

भारत में सभी राज्यों की स्थिति एक साथ बेहतर हो सके और हम तेजी से विकास की ओर जा सके इसके लिए भारतीय अंतर राज्य परिषद का गठन किया गया था।

यदि आप एक छात्र हैं तो इसके बारे में आपको अच्छे से रिसर्च करनी चाहिए क्योंकि भारत के अंतर राज्य परिषद से जुड़े हुए प्रश्न कई बार प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाते हैं।

आशा करता हूं आपको हमारी भारत में अंतर राज्य परिषद का अध्यक्ष कौन होता है (Bharat Mein Antar Rajya Parishad Ka Adhyaksh Kaun Hota Hai) के ऊपर यह जानकारी अच्छी लगी होगी।

जानकारी अच्छी एवं मददगार लगी हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ नीचे दिए गए Facebook और WhatsApp के बटन के माध्यम से शेयर करें।

इन सबके अलावा भारतीय अंतर राज्य परिषद (Indian State Council In Hindi) से जुड़े हुए कोई भी प्रश्न या सुझाव आपके मन में हो तो नीचे आप हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर बता सकते हैं।

इसी प्रकार की रोचक जानकारियों को पढ़ने के लिए आप हमारे वेबसाइट Newinhindi.In को सब्सक्राइब भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

error: जानकारी सुरक्षित है