होम » शिक्षा » सघन बस्ती किसे कहते हैं? सघन बस्ती कैसी होती है और इस की क्या विशेषता है?

सघन बस्ती किसे कहते हैं? सघन बस्ती कैसी होती है और इस की क्या विशेषता है?

इस आर्टिकल में हम लोग जानने वाले हैं सघन बस्ती के बारे में जिसमें हम लोग सघन बस्ती किसे कहते हैं और सगन बस्ती कैसी होती है तथा इसकी क्या विशेषता है? पर चर्चा करेंगे।

बढ़ती जनसंख्या और लोगों की जरूरत सघन बस्ती का सबसे बड़ा कारण है भारत के अलावा कई और ऐसे देश हैं जहां पर सघन बस्ती देखने को मिलती है जैसे ब्राजील, स्पेन, इटली आदि।

सघन बस्ती किसे कहते हैं?

saghan basti kise kahate hain

शहर के नजदीक स्थित किसी मैदानी क्षेत्र में बसी हुई बस्ती जहां पर लोगों और घरों की संख्या सामान्य से अधिक होती है तथा वहां के लोगों के पास अच्छी शिक्षा, बाजार, पानी, चिकित्सा आदि की सुविधा उपलब्ध होती है इस तरह के बस्ती को सघन बस्ती कहते हैं।

इस तरह के बस्तियों में स्थित घर आपस में एक दूसरे से सट्टे सट्टे होते हैं और बस्ती के अंदर मौजूद रास्ते बहुत पतले होते हैं।

यह भी पढ़ें: अंकीय विभाजन क्या होता है?

लोग अपनी जरूरत और विकास हेतु सघन बस्ती में रहने के लिए मजबूर होते हैं क्योंकि सघन बस्ती हमेशा शहर के नजदीक स्थित होता है जहां सभी जरूरत की चीजें आसानी से उपलब्ध होती है।

सघन बस्ती कैसी होती है?

सघन बस्ती देखने में बहुत ही भीड़ भाड़ वाली लगती है जहां आपको खाली स्थान नहीं दिखेगा वहां सिर्फ आपको घर ही घर दिखेगा और वहां की जलवायु और अस्थिर रहती है क्योंकि सघन बस्ती होने के कारण यहां लोगों की संख्या अधिक होती है और प्रदूषण भी अत्यधिक होता है जिस वजह से यहां की जलवायु और  अर्स्थिर रहती है।

यहां पर आपको बहुत सारे रास्ते देखने को मिलेंगे लेकिन वह बहुत पतले होते हैं जिसकी चौड़ाई करीबन 3 से 4 फीट की होती है।

यह भी पढ़ें: भारत के 29 राज्य और राजधानी के नाम

 सघन बस्ती का क्षेत्र बहुत ही अस्त-व्यस्त होता है यहां कि लोग अपने व्यक्तिगत विकास के लिए दिन रात लगे पड़े रहते हैं। 

सघन बस्ती की विशेषता

यदि आप एक ऐसे क्षेत्र में रहते हैं जहां से शहर नजदीक पड़ता है तो यह संभव है किआप जिस बस्ती में रह रहे हैं वह एक सघन बस्ती है जिसकी कई सारी विशेषताएं होती है।

सघन बस्ती की मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित है:

  •  दैनिक जीवन में उपयोग होने वाले वस्तु यहां आसानी से मिल जाते हैं।
  •  आपके घर से शहर की दूरी कम होती है।
  •  शिक्षा की उत्तम व्यवस्था यहां प्राप्त होती है।
  •  रोजगार के अवसर यह आसानी से मिल जाते हैं।
  •  सघन बस्ती में आपकी व्यक्तिगत सुरक्षा अच्छी होती है।

यह भी पढ़ें: मताधिकार किसे कहते हैं? मताधिकार आंदोलन का महत्व क्या है?

सघन बस्ती की उत्पत्ति क्यों होती है?

लोग अपने व्यक्तिगत विकास के लिए सघन बस्ती में रहने के लिए बाध्य हो जाते हैं क्योंकि कुछ कारण है जिसके वजह से सघन बस्ती की उत्पत्ति होती है।

सगन बस्ती की उत्पत्ति के कुछ मुख्य कारण:

1. व्यक्तिगत विकास: लोग अपने निजी स्थान को छोड़कर अपने व्यक्तिगत विकास के लिए सघन बस्ती में रहते हैं ताकि उन्हें हर आधुनिक चीज का सुविधा प्राप्त हो सके।

2. भौतिक कारण: सघन बस्ती की उत्पत्ति में भौतिक कारण जैसे मैदानी क्षेत्र, जलवायु, कृषि योग्य भूमि, पीने योग्य जल आदि का सबसे बड़ा योगदान होता है।

3. जातीय कारण: कई बार लोग अपने निजी जाती के लोगों के साथ रहना पसंद करते हैं जिससे उन्हें अपने संस्कृति का प्रदर्शन करने में कोई दिक्कत नहीं आहे इस तरह एक ही जाति के लोग किसी निश्चित क्षेत्र में अधिक हो जाने से सगन बस्ती का निर्माण हो जाता है।

4. व्यक्तिगत सुरक्षा: लोग अपने रहने के लिए वही स्थान का चुनाव करते हैं जहां उन्हें अपने निजी सुरक्षा का भरोसा होता है और निजी सुरक्षा के लिए सघन बस्ती एक अच्छा स्थान माना जाता है।

यह भी पढ़ें: वृक्ष रोपण कृषि क्या है? वृक्ष रोपण कृषि की विशेषताएं का संपूर्ण वर्णन

सघन बस्ती में रहने के लाभ और हानि

यहां हम आपको सघन बस्ती के कुछ लाभ और हानि बताएंगे जिससे आप को उसके फायदे और नुकसान दोनों समझने में आसानी होगी।

सघन बस्ती के लाभ

  1. दैनिक जीवन में उपयुक्त होने वाले सभी चीजें आसानी से उपलब्ध हो जाता है।
  2. उच्च शिक्षा की अच्छी व्यवस्था यहां पर सुनिश्चित होती है।
  3. यातायात की सुगम व्यवस्था जिसके माध्यम से अंतरराष्ट्रीय यात्रा भी की जा सकती है।

सघन बस्ती के हानि

  1.  यहां प्रदूषण अत्यधिक होती है जिससे हमारे स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है।
  2.  यहां आपको अपने जीवन का निर्वाह करने के लिए अधिक पैसे की जरूरत होती है।
  3. सघन बस्ती में शांति का वातावरण नहीं पाया जाता है।

यह भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में कितने जिले हैं? यूपी के सभी जिलों के नाम

प्रश्न और उत्तर

किसी वस्तु को सघन बस्ती किसे कहते हैं?

जब किसी निश्चित स्थान पर घरों की संख्या अधिक हो जाए और सभी घर एक दूसरे के पास पास हो तब उस निश्चित स्थान को सघन बस्ती कहेंगे।

सघन बस्ती की प्रमुख विशेषता क्या है?

सघन बस्ती की प्रमुख विशेषता यह है कि यहां लगभग एक ही प्रकार के जाति से संबंधित लोग रहते हैं और यहां कम क्षेत्र में घरों की संख्या अधिक होती है।

सघन बस्ती कहां पाया जाता है?

सघन बस्ती मूलतः शहरों के नजदीक पाया जाता है जहां सभी चीजों की व्यवस्था अच्छी होती है।

भारतीय इतिहास में सघन बस्ती का उदाहरण क्या है?

सिंधु घाटी की सभ्यता भारतीय इतिहास में सघन बस्ती का एक सबसे अच्छा उदाहरण माना जाता है।

यह भी पढ़ें: City का मतलब क्या होता है? सिटी और शहर में क्या अंतर है?

निष्कर्ष : सघन बस्ती किसे कहते हैं

भारत में सबसे अधिक मुंबई और दिल्ली जैसे राज्यों में सबसे अधिक सघन बस्ती देखने को मिलता है जहां लोग अपनी आर्थिक में सुधार करने के लिए रहते हैं।

हम आशा करते हैं आपको हमारी सघन बस्ती किसे कहते हैं और सघन बस्ती की विशेषताएं क्या है के ऊपर हमारी यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी।

जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ नीचे दिए गए फेसबुक और व्हाट्सएप के बटन के माध्यम से शेयर कर सकते हैं।

सघन बस्ती से संबंधित किसी भी प्रकार के प्रश्न या सुझाव आपके मन में हो तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर बता सकते हैं हम उसका उत्तर आपको अवश्य देंगे।

इसी प्रकार की रोचक जानकारियों को रोजाना पढ़ने के लिए आप हमारे वेबसाइट को सब्सक्राइब भी कर सकते हैं। 

Leave a Comment

error: जानकारी सुरक्षित है