होम » शिक्षा » भाबर क्या होता है? और भाबर की विशेषताएं

भाबर क्या होता है? और भाबर की विशेषताएं

भाबर एक प्राकृतिक रचना है जो पर्यावरण पर सीधा प्रभाव डालती है आइए जाने भाबर क्या है? (Bhabar Kya Hai) और भाबर की क्या विशेषता होता है?

bhabar kya hai

अगर आप एक छात्र हैं तो आपके लिए यह अत्यंत महत्वपूर्ण विषय बन जाता है क्योंकि कई प्रतियोगी परीक्षाओं में भी इससे जुड़े हुए प्रश्न पूछे गए हैं।

भाबर आपको पहाड़ी क्षेत्रों में देखने को मिलता है जिससे नदियां ऊपर से नीचे की ओर बहती हुई पश्चिम की दिशा में आगे बढ़ती है भाबर क्या है? इसे विस्तृत रूप से जानने के जानकारी को पूरा पढ़ें।

भाबर क्या है?

शिवालिक पर्वतमाला के 8 से 16 किलोमीटर की संकीर्ण पट्टी में जब पूर्व से पश्चिम की ओर बहने वाली नदियां अपने साथ कंकर पत्थरों को लाकर उस संकीर्ण पट्टी में जमा कर देती है तो उसे भाबर कहते हैं।

भाबर पट्टी पूर्व में तुलनात्मक रूप से संकरी है और पश्चिम और उत्तर पश्चिम पहाड़ी क्षेत्रों में विशाल रूप से बड़ी है।

भाबर पट्टी के अंतर्गत आने वाले क्षेत्र कृषि के लिए उपयुक्त नहीं है और इस पट्टी में केवल बड़े-बड़े जड़ों वाले पेड़ पनपते हैं।

यह भी पढ़े: Mock Test का मतलब क्या होता है?

भाबर की क्या विशेषता है?

भाबर की कई विशेषताएं हैं जो निम्नलिखित रूप से देखने को मिलती है:

  • शिवालिक पर्वत श्रेणी के ढालों के समानांतर एक संकरी पट्टी में पहाड़ों से उतरती कई नदियों द्वारा कंकड़ का जमाव भाबर कहलाता है।
  • भाबर क्षेत्र में नदियां का ठहराव नहीं होता है।
  • कुछ राज्यों में भाबर अत्यंत प्रभावी है जिससे वाणिज्य की अधिकता होती है उदाहरण में उत्तराखंड। 
  • पहाड़ों से उतरकर नदियाँ एक संकरी पेटी में कंकड़ और बाजरी जमा करती हैं।
  • इस पट्टी की चौड़ाई करीब 8 से 16 किलोमीटर होती है।
  • यह शिवालिक पर्वत माला के समानांतर स्थित है।

भाबर बनने की प्रक्रिया

भाबर शिवालिक पर्वतमाला मैं देखी जाती है इसमें जब नदियां पूर्व की ऊंचाइयों से शिवालिक पर्वत के सहारे नीचे उतरती है।

तब शिवालिक पर्वत के पतली पट्टी यों में नदियों द्वारा लाया गया कंकर पत्थर, बजरी और भी दूसरे पदार्थ नदियों द्वारा वही संकड़ी पार्टियों में जमा कर दिया जाता है जिसे भाबर कहते हैं इस तरह बाबर का निर्माण होता है।

भाबर आपको भारत में उत्तर और उत्तरी पूर्वी भागों में देखने को मिलता है जहां नदियों का उद्गम स्थल है।

यह भी पढ़े: साबुन क्या है?

नदियों की उद्गम स्थिति अनिवार्य है क्योंकि उद्गम स्थल पर नदियों की तीव्रता अत्यधिक होती है जिससे कटाव भी अधिक होता है और अच्छा भाबर का निर्माण हो पाता है।

FAQ:-

भाबर क्या है?

भाबर शिवालिक की पहाड़ियों के संकड़ी पट्टी में नदियों द्वारा जमा किए जाने वाले कंकर पत्थर ही भाबर है।

यह भी पढ़े: शॉटकी दोष क्या है ? शॉटकी दोष के उदाहरण और विशेषताएं

निष्कर्ष

भाबर हमारी पर्यावरण के संतुलन के लिए बहुत बड़ी भूमिका निभाती है, अगर आप इस भाबर को देखना चाहते हैं तो आप भारत के उत्तरी पूर्वी राज्यों में घूमने जा सकते हैं।

आशा करता हूं भाबर क्या है? (Bhabar Kya Hai) और इसका विशेषता क्या होता है? कि हमारी यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी।

जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इस जानकारी को आप अपने दोस्तों के साथ नीचे दिए गए फेसबुक और व्हाट्सएप के बटन के माध्यम से शेयर करें।

भाबर पट्टी से जुड़ी हुई कोई भी प्रश्न आपके मन में हो तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर बता सकते हैं हम उसका उत्तर अवश्य देंगे।

 इसी प्रकार की रोचक जानकारियों को रोजाना पढ़ने के लिए आप हमारे वेबसाइट को सब्सक्राइब भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

error: जानकारी सुरक्षित है