होम » शिक्षा » Mera Parichay In Hindi | मेरा परिचय हिंदी में

Mera Parichay In Hindi | मेरा परिचय हिंदी में

दोस्तों आज हम लोग जानेंगे आप अपना परिचय हिंदी Main कैसे दे सकते हैं यानी Mera Parichay In Hindi इसमें हम जानेंगे आप अपना परिचय किस तरह दूसरों के सामने दे सकते हैं। यदि आप एक छात्र हैं और किसी भी Class में पढ़ते हैं तो यह आपके काम आने वाला है।

बहुत से लोग एवं छात्र अपना परिचय देने के समय लडख़ड़ा जाते हैं। जब हुए अपना परिचय दे रहे होते हैं तो एक वाक्य के बाद दूसरा वाक्य क्या बोले यह उन्हें समझ में नहीं आता।

दोस्तों चली आइए जानते हैं कि हम अपना परिचय दूसरों के सामने कैसे दे सकते हैं।

Mera Parichay In Hindi Main

mera parichay in hindi main
  1. मेरा नाम राजवीर शर्मा है।
  2. मेरे पिताजी का नाम श्री अमित शर्मा है
  3. मेरी माता जी का नाम श्रीमती बेबी देवी है।
  4. मैं कक्षा 5 में पढ़ता हूं।
  5. मेरा प्रिय विषय गणित है।
  6. मेरे विद्यालय का नाम वीणा विद्या मंदिर है।
  7. मेरी उम्र 10 साल है।
  8. मैं दिल्ली शहर के गाजियाबाद नगर में रहता हूं। 
  9. मुझको हरा रंग बहुत पसंद है।
  10. मुझे फुटबॉल खेलना बहुत पसंद है। 
  11. आलू मेरा प्रिय सब्जी है।
  12. मुझे फलों में आम अच्छा लगता है।
  13. मैं बड़ा होकर इंजीनियर बनना चाहता हूं।

Hindi Mein Mera Parichay

दोस्तों यदि आप उम्रदर आदमी हैं तो आप अपना परिचय इस तरह से दे सकते हैं।


मेरा नाम मोहन कुमार है मेरे आदरणीय पिताजी का नाम राकेश कुमार है और माता का नाम श्रीमती अंजली देवी है  मैं कपड़ों का व्यापारी हूं और मेरा  कारखाना मध्य लखनऊ में स्थित है।

हम लोग उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले में रहते हैं हमारे गांव का नाम झुमरी तलैया  है। हमारे घर में कुल 8 सदस्य हैं।  मेरे दादा दादी माता पिता और भाई बहन हमारे साथ ही रहते है।

मैं प्रतिदिन प्रातः सूर्य उदय से पहले करीब 4:00 बजे उठ जाता हूं उसके बाद में अपने नित्य क्रियाओं को पूर्ण कर हमारे घर के पास मैदान में दौड़ने चला जाता हूं वहां पर अन्य लोग भी दौड़ने, योगा और Meditation Karne के लिए आते हैं।

मैदान में कुछ बुजुर्ग लोग भी आते हैं जिनको मैं रोज नमस्कार करता हूं और वह मुझे स्नेह प्रदान करते हैं उनसे मुझे बहुत कुछ सीखने को मिलता है।

उसके बाद मैं वापस घर लौटता हूं और नहा कर तैयार हो जाता हूं फिर सुबह का नाश्ता करके मैं अपने काम के लिए अपने  कार्यालय चला जाता हूं।

अपने कार्यालय पहुंचने के बाद मैं सबसे पहले अपने कार्यालय में बने मंदिर में पूजा करता हूं उसके बाद सारी वस्तुओं एवं कार्यों की समीक्षा करता हूं। 

शाम होने के बाद मैं वापस अपने घर को लौट आता हूं फिर हाथ मुंह धो कर टीवी देखता हूं फिर रात्रि का भोजन कर सो जाता हूं।

Myself In Hindi For Class 1

मेरा नाम राहुल मिश्रा है मेरे पिताजी का नाम राजेश मिश्रा है और मेरी माता का नाम श्रीमती रूपा मिश्रा है और मैं कक्षा एक में पढ़ता हूं।

हम लोग तीन भाई बहन हैं और हम लोग कोलकाता के बेहाला जिले में रहता हूं लेकिन मेरी वास्तविक गांव बिहार में है।

मैं रोज सुबह 6:00 बजे उठ जाता हूं उसके बाद अपनी नित्य क्रिया करके मैं पढ़ने बैठ जाता हूं अपने शिक्षकों द्वारा दी गई सारे होमवर्क को मैं पूरा कर लेता हूं।

उसके बाद मैं टीवी देखता हूं फिर सुबह का नाश्ता करके अपने स्कूल बस से अपने स्कूल चला जाता हूं।

स्कूल पहुंचकर मैं अपने सारे शिक्षक गणों को प्रणाम करता हूं और वह लोग मुझे  स्नेह प्रदान करते हैं  फिर रोज की भांति कक्षा शुरू हो जाती है और शाम होते-होते स्कूल की छुट्टी हो जाती है उसके बाद मैं अपने स्कूल बस से अपने घर चलाता हूं।

घर आकर मैं अपने हाथ पहुंचकर पास के मैदान में खेलने चला जाता हूं फिर घर आकर चित्र बनाता हूं और रात्रि का भोजन करके सो जाता है।

Mera Parichay In Hindi Main For Class 2

मेरा नाम आंचल शर्मा है मेरे पिता श्री का नाम नीरज शर्मा है एवं माता का नाम श्रीमती रूबी देवी है कक्षा दो में पढ़ती हूं और मेरे  विद्यालय का नाम वीणा भारती है।

 हम लोग चार भाई बहन हैं  मैं सबसे छोटी हूं हम लोग बिहार के बेगूसराय जिले में रहते हैं और मेरे गांव का नाम  बीट है।

 मैं प्रातः 6:00 बजे उठ जाती हूं सुबह की नित्य क्रिया के बाद मैं अपने माता के कामों में हाथ बढ़ाती हूं उसके बाद मैं अपने विद्यालय द्वारा दिया गया कार्य पूरा करती हूं उसके बाद मैं अपने विद्यालय के लिए निकल जाती  हूं।

मेरी विद्यालय मेरे घर से मात्र 10 मिनट की दूरी पर है विद्यालय के रास्ते में एक मंदिर है जहां मैं रोज विद्यालय जाते समय प्रणाम करती हूं।

विद्यालय पहुंचकर में अपने शिक्षकों  को नमस्कार करती हूं फिर विद्यालय ने शिक्षा ग्रहण करने के बाद वापस अपने घर 4:00 बजे तक लौट आती हूं।

घर आकर मैं अपनी सहेलियों के साथ खेलने जाती हूं खेलने के बाद मैं संध्या की नाश्ता करता हूं और पढ़ने बैठ जाती हूं पढ़ने के बाद मैं टीवी देखती हूं और रात्रि का भोजन ग्रहण करके सो जाती हूं।

Mera Parichay In Hindi For Class 3

 मेरा नाम रवि शंकर त्रिपाठी है और मैं कक्षा तीन में पढ़ता हूं  मेरे पिताजी का नाम  शंकर त्रिपाठी है और मेरी माता का नाम बीना त्रिपाठी है हम लोग तीन भाई बहन है।

 हम लोग दिल्ली में रहते हैं मुझे दोनों बहुत पसंद है इसलिए मैं रोज सुबह 5:00 बजे उठकर दौड़ने जाता हूं 1 घंटे दौड़ने के पश्चात में वापस घर लौट आता हूं फिर नित्य क्रिया करके टीवी देखता हूं।

उसके बाद मैं अपने पढ़ाई के लिए स्कूल चला जाता हूं स्कूल में ढेर सारी पढ़ाई करने के बाद मैं वापस अपने घर लौट आता हूं घर लौट करो मैं फिर से खेलने के लिए मैदान चला जाता हूं।

वहां दोस्तों के साथ एक घंटा क्रिकेट खेल कर वापस घर लौट आता हूं। फिर में पढ़ाई करने के लिए बैठ जाता हूं मुझे गणित पढ़ना बहुत पसंद है इसलिए मैं पढ़ाई के वक्त 2 घंटा अपने गणित विषयों में देता हूं।

फिर पढ़ाई खत्म करके मैं अपने मम्मी के साथ बाजार जाता हूं। उसके बाद घर लौट कर टीवी देखता हूं उसके बाद भोजन करके मैं सो जाता हूं।

निष्कर्ष

दोस्तों आशा है कि आप लोगों को मेरा परिचय कैसे देना है यह समझ में आ गया होगा यदि आप इससे भी अधिक परिचय देना चाहते हैं तो आप दे सकते हैं।

हमेशा याद रखें कि जब भी आप अपना परिचय किसी को दें तो उसे जितना हो सके संक्षिप्त रखने की कोशिश करें।

क्योंकि परिचय जितना संक्षिप्त हो उतना ही बेहतरीन होता है और कक्षा दो 3:00 के छात्र छात्राओं के लिए परिचय देने में एक से डेढ़ मिनट से ज्यादा नहीं लगना चाहिए।

Leave a Comment

error: जानकारी सुरक्षित है