होम » स्वास्थ्य » मैडिटेशन करने का तरीका और इस के फायदे

मैडिटेशन करने का तरीका और इस के फायदे

इस भागदौड़ भरी जिंदगी में अपने मन को शांत रखना बहुत जरूरी है इसलिए आपको नियमित रूप से मेडिटेशन करना चाहिए इस के लिए आप को मैडिटेशन करने का तरीका और इस के फायदे की जानकारी होनी चाहिए जिस से आप को इस का लाभ सही रूप से मिलेगा

विषय सूची

मेडिटेशन क्या है?

meditation kya hai

मेडिटेशन एक तरह का मानसिक व्यायाम है जो हमारे मन को केंद्रित करने में हमारी सहायता करता है। इसके रोजाना अभ्यास से आप भी अपने मन को एक बिंदु पर केंद्रित करने में सक्षम हो जाएंगे। 

मेडिटेशन का अभ्यास आप रोजाना किसी शांत स्थल पर जाकर या अपने घर में किसी शांत कमरे में बैठकर कर सकते हैं। अतः इस बात का पूरा ध्यान रखें कि आप जिस स्थल पर मेडिटेशन कर रहे हैं वह पूर्ण रूप से शांत है।

मेडिटेशन क्यों जरूरी है?

मेडिटेशन शुरू करने के दौरान आपके दिमाग में कई सारी प्रश्न होते हैं जैसे: मेडिटेशन क्या है?, मेडिटेशन कैसे शुरू करें?, मेडिटेशन कैसे करते हैं?, मेडिटेशन के फायदे? चलिए देखते हैं इसका उत्तर। 

मेडिटेशन सिर्फ आपको मानसिक रूप से ही नहीं बल्कि आपको फिजिकली भी स्वस्थ बनाता है। डॉक्टर भी कई मानसिक रूप वाले व्यक्तियों को मेडिटेशन का सुझाव देते हैं। मेडिटेशन आपके एकाग्रता को बढ़ाता है और आपको दिमागी रूप से मजबूत बनाता है।

आमतौर पर इस व्यस्त जिंदगी में मनुष्य अपना मानसिक ध्यान रखना भूल जाते हैं और इस सांसारिक दिक्कतों से आपका मन अशांत रहता है इस कारण आप किसी पर भी अकारण गुस्सा हो सकते हैं और आपका का संबंध खराब हो सकता है।

यह भी पढ़ें: न्यूरोट्रांसमीटर क्या है इस के उदाहरण सहित वर्णन हिंदी में

इसलिए आपको रोजाना मेडिटेशन का अभ्यास करना अति आवश्यक है। ताकि आप अपने जीवन के लक्ष्य को केंद्र में रखकर आगे बढ़े और जीवन की ऊंचाइयों को प्राप्त करें। 

मेडिटेशन के प्रकार

meditation karne kar tarika

मेडिटेशन के कई प्रकार हैं आप चाहे तो किसी निश्चित स्थान अथवा अपने घर में या आप सोते सोते और चलते चलते भी मेडिटेशन कर सकते हैं। मेडिटेशन का सीधा अर्थ है अपने ध्यान को केंद्रित रखना ।

1. आध्यात्मिक मेडिटेशन (Sun Meditation)

आध्यात्मिक मेडिटेशन करने के लिए आपको एक शांतिपूर्ण स्थान सुनिश्चित करना होगा। तथा योग मुद्रा में बैठकर अपने ध्यान को अपने सांसो पर केंद्रित करें तथा इस अवस्था में रहते हुए आप किसी मंत्र का जाप कर सकते हैं। आध्यात्मिक मेडिटेशन को हिंदू धर्म में भगवान से भी जोड़कर देखा जाता है। 

2. कुंडलिनी योग मेडिटेशन (Kundalini Yog Meditation)

यह कुंडलिनी meditation karne ke बहुत सारे fayde हैं इस योग में आपको ध्यान के अलावा कई तरह की गतिविधियां करनी पड़ती है इसके लिए आपको एक मेडिटेशन शिक्षक की जरूरत पड़ेगी जो आपका मार्गदर्शन कर सके।

3. मंत्रा मेडिटेशन (Mantra Meditation)

मंत्र का अर्थ है मन तथा तर्क अतः आप के मन में चल रहा तर्क एवं विचार। इसलिए आप मंत्र मेडिटेशन के जरिए आप अपने मन के विचारों को मुक्त करके अपना ध्यान किसी एक बिंदु पर लगा सकते हैं। इसमें आपको ओम का जाप करना होता है। मंत्र मेडिटेशन करने पर आपको जागरूकता का अनुभव होगा।

4. तृतीय नेत्र मेडिटेशन (Third Eye Meditation)

यह मैडिटेशन करने के बहुत सारे फायदे हैं आपको सबसे शांत जगह पर बैठकर अपनी दोनों आंखों को अपने मस्तिष्क के बीच में केंद्रित करना होता है। जा आपकी ज्ञान और सोचने की क्षमता को बढ़ाता है।

5. माइंडफूलनेस मेडिटेशन (Mindfulness Meditation)

माइंडफूलनेस मेडिटेशन का रोजाना अभ्यास करने पर आप वर्तमान में जागरूक रहते हैं। इस मैडिटेशन को करने के लिए आपको शांतिपूर्ण स्थान पर युवावस्था में बैठकर अपने आसपास की गतिविधियों को अपने मन में अनुभव करना होता है तथा अपने पांचों ज्ञानेंद्रियों को सक्रिय रखना पड़ता है। 

6. डीप मेडिटेशन (Deep Meditation)

इस मैडिटेशन के अभ्यास से आप अपने रोजाना चल रहे गतिविधियों को पीछे छोड़ कर आप अपने अंतर्मन में जाते हैं तथा अपने उस बेचारी का अवस्था में पहुंच जाते हैं जो आपको से पहले अनुभव हुई थी। 

7. ओम शांति का ध्यान (Om Shanti Meditation)

ओम शांति मेडिटेशन इस मेडिटेशन को करने के लिए आप किसी शांत स्थान पर  योग अवस्था में बैठकर  ओम शब्द का जाप तथा ओम का ध्यान करना होता है इससे आप अपने आपको ईश्वर से जुड़ा हुआ अनुभव करते हैं। 

8. जेन मेडिटेशन (Zen Meditation)

जेन मेडिटेशन जैन परंपराओं का एक हिस्सा है इसके अभ्यास के लिए आप किसी प्रोफेशनल से मार्गदर्शन ले क्योंकि इसमें युग के साथ-साथ कई मुद्राएं करने होते हैं। इस मैडिटेशन के अभ्यास से आप अपने मन को शांत और अपनी सोचने की क्षमताओं को बढ़ा हुआ महसूस करेंगे। 

मेडिटेशन कैसे करें

meditation karne ka tarika

मेडिटेशन के बारे में इतना कुछ जानने के बाद आपके मन में यह सवाल होगा कि मेडिटेशन या ध्यान कैसे करें और मेडिटेशन करने का सही तरीका क्या है? तो चलिए जानते हैं  मेडिटेशन के महत्वपूर्ण स्टेप्स। 

1. स्थान का चुनाव

एक अच्छा Meditation Karne Ka Tarika यह है की आपको एक शांतिपूर्ण स्थान सुनिश्चित करना होगा चाहे वह आप घर के किसी कमरे तथा अपने बाल कनी अथवा किसी मैदान में जाकर भी आप मेडिटेशन कर सकते हैं लेकिन वह शांतिपूर्ण होना चाहिए। 

2. सही समय का चुनाव

मेडिटेशन करने के लिए सबसे अच्छा और सबसे उत्तम समय है सुबह के 4:00 से 6:00 तक तथा शाम को आप 6:00 से 7:00 के बीच भी मेडिटेशन कर सकते हैं और मैडिटेशन के बाद ही Green Tea या अन्य पदार्थो का सेवन करे का।

हमेशा एक बात का ध्यान रखें यदि आपने जिस समय पर मेडिटेशन आज किया है वही समय पर आपको कल भी मेडिटेशन करना है। इससे आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे। 

3. कपड़े का चुनाव

मैडिटेशन करने के लिए आपको ढीले ढाले कपड़े की जरूरत पड़ेगी आप जींस पैंट या टाइट कपड़ों में मेडिटेशन नहीं कर सकते यदि आपने टाइप कपड़ों में मैडिटेशन किया तो आपको अच्छे फायदे नहीं मिलेंगे यह ध्यान का अच्छा तरीका है। 

4. बॉडी स्ट्रेच

मेडिटेशन या ध्यान करने से पहले अपनी बॉडी को स्पर्श करें जिससे आपकी बॉडी फ्री हो जाएगी जिससे मेडिटेशन करने में आपको और आसानी होगी यह ध्यान करने का तरीका का एक महत्वपूर्ण चरण है। 

5. बैठने की अवस्था

मेडिटेशन करने के लिए चकोरी लगा कर बैठ जाएं और अपनी कमर को सीधा रखें और अपनी छाती को चौड़ा ताकि आपके शोषण प्रणाली  की क्षमता बढ़ेगी पता आपको मेडिटेशन करने में सहायता होगा।

6. शांत बैठे

मैडिटेशन करने का सबसे अच्छा तरीका यह है की आप चकोरी लगाकर बैठने के बाद आप कुछ देर तक ऐसे ही शांत बैठे हैं कुछ ना सोचे और कुछ ना विचार है बस सीधे बैठे और अपने दिमाग को खाली रखें।

7. श्वसन क्रिया

धीरे से अपनी आंखें बंद करें और सारा ध्यान अपने श्वसन क्रिया पर केंद्रित करें तथा दिमाग को खाली रखें सिर्फ अपने श्वसन क्रिया पर ध्यान केंद्रित करें।

8. बॉडी रिलैक्सेशन

इन सभी क्रियाओं को करते समय ध्यान रहे कि आपकी बॉडी रिलैक्स अवस्था में रहे कोई तनाव आपको महसूस ना हो या अपनी बॉडी को कोई भी तनाव महसूस होने ना दें।

9. समय अवधि

मेडिटेशन या ध्यान करने का समय आपको रोजाना कम से कम 10 से 12 मिनट करनी है इससे मेडिटेशन करने के अच्छे फायदे देखने को मिलेंगे।

10. मेडिटेशन समाप्त करें

मेडिटेशन समाप्त करने के समय आप अपनी आंखें तुरंत ना खोलें अपनी आंखें धीरे-धीरे खोलें था अपनी सांसो पर भी नियंत्रण बनाए रखें तथा धीरे-धीरे अपनी मेडिटेशन को समाप्त करें। 

मेडिटेशन करने के फायदे

meditation karne ke fayde

अब हम देखेंगे की मैडिटेशन के क्या क्या फायदे हैं (Benefits of Meditation in Hindi)

1. खुशी का अहसास

मेडिटेशन करने से आपको बेवजह गुस्सा नहीं आता है क्योंकि आपका अपने दिमाग पर पूरी तरह से काबू पा लेते हैं जिससे आपका मन बेवजह अशांत नहीं रहता तथा आपको हमेशा खुशी का अनुभव होता है। 

2. त्वचा के फायदे

रोजाना मेडिटेशन से आपकी त्वचा की कोशिकाएं सक्रिय हो जाती है तथा नई नई कोशिकाओं का निर्माण होता है इससे आपकी त्वचा और निखर जाती है तथा सॉफ्ट हो जाती है।

3. ब्लड प्रेशर

यदि आप मैडिटेशन करने का सही तरीका अपनाते हैं तो आप का ब्लड प्रेशर अच्छा बनता है क्यूंकि ब्लड प्रेशर का सीधा संबंध आपके दिमाग से होता है और रोजाना मेडिटेशन करने से आप अपने दिमाग पर काबू कर लेते हैं जिससे आपका ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है।

4. याददाश्त बढ़ाने में

इस भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग अपनी मेंटल हेल्थ पर ध्यान देना भूल जाते हैं अतः रोजाना मेडिटेशन से आपका दिमाग मजबूत होता है अतः आपकी याददाश्त क्षमता भी बढ़ जाती है।

5. बुरी आदतें कम होना

रोजाना मेडिटेशन और ध्यान करने से आप अपने मन को नियंत्रित करने में सक्षम हो जाते हैं अतः इससे आपको अपनी बुरी आदतों को छोड़ने में भी आपको बहुत मदद मिलती है। 

6.अनिद्रा का ठीक होना

यदि आप नित्य दिन मैडिटेशन करने का सही तरीका अपनाते हैं तो आप का अपने दिमाग को नियंत्रित कर लेते हैं और आपको संतुष्टि का अनुभव होता है तथा आपकी अनिद्रा काफी प्रॉब्लम दूर हो जाता है। 

7. मानसिक लाभ

इस दैनिक जीवन में हमें बहुत सारी वस्तुओं का लोभ होता है अतः हमारे दिमाग में हमेशा इसके लिए युद्ध चलता रहता है। अतः अतः मेडिटेशन से आप अपने मन को केंद्रित कर लेते हैं तथा आपको संतुष्टि का अनुभव होता है तथा इससे आपको मानसिक लाभ मिलता है। 

मेडिटेशन टिप्स (Meditation Tips For Beginners In Hindi)

  •  मेडिटेशन दैनिक रूप से रोजाना करें ताकि आपको इसका लाभ तुरंत मिल सके।
  •  इसे हमेशा ढीले ढाले कपड़े पहन कर ही करें।
  •  मेरी टेशन करते समय अपने ध्यान को केंद्रित और एकाग्र रखें।
  •  इसे हमेशा शांतिपूर्ण स्थान पर ही करें।
  •  मेडिटेशन करते समय अपनी बॉडी को रिलैक्स रखें।
  •  इसे हमेशा खाली पेट ही करें। 

प्रश्न और उत्तर

मेडिटेशन कैसे करें?

किसी शांत स्थान पर शांति से बैठ कर अपनी बॉडी को रिलैक्स करें और और धीरे से अपनी आंखें बंद करके अपनी शोषण किया पर अपने ध्यान को केंद्रित करें तथा इसी अवस्था में 5 मिनट रहे।

मेडिटेशन क्यों जरूरी है?

मेडिटेशन रोजाना करने से आप अपने दिमाग पर नियंत्रण पा लेते हैं तथा इससे आपको अपने जीवन में संतुष्टि का अनुभव होता है तथा आप हमेशा खुश रहते हैं।

ध्यान कैसे करना चाहिए?

किसी शांत स्थान पर शांति से बैठ कर अपने मन को एकाग्र करें तथा अपना सारा ध्यान अपने श्वसन क्रिया पर केंद्रित करें तथा धीरे से अपनी सास को छोड़ें और ले।

यह भी पढ़ें: संतुलित आहार किसे कहते हैं? संतुलित आहार के तत्व का महत्व क्या है?

निष्कर्ष

नित्य दिन मैडिटेशन करने का सही तरीका अपनाते हैं तो आप हमेशा सकारात्मक होते हैं जो कि आपका दिमाग केंद्रित रहता है तथा इधर-उधर की बातें आपको विचलित नहीं कर पाती जो इस के अच्छे फायदे है।

हमें आशा है कि आप हमारे इस लेख को पढ़ने के बाद मेडिटेशन के बारे में काफी कुछ जान गए होंगे – जैसे मेडिटेशन क्या है? मेडिटेशन कैसे करते हैं? ध्यान कैसे करते हैं? , मेडिटेशन के फायदे  तथा मेडिटेशन कब करना चाहिए?

अगर आप अपने मित्र को या किसी प्रियजन को  मेडिटेशन के लाभ एवं मेडिटेशन के बारे में बताना चाहते हैं तो आप हमारे इस लेख को उनसे शेयर करें तथा कोई भी प्रश्न  आपके मन में हो तो कमेंट करके जरूर बताएं।

2 thoughts on “मैडिटेशन करने का तरीका और इस के फायदे”

Leave a Comment