होम » टेक्नोलॉजी » सिस्टम सॉफ्टवेयर क्या होता है हिंदी में जाने

सिस्टम सॉफ्टवेयर क्या होता है हिंदी में जाने

नमस्कार दोस्तों आज का आर्टिकल मजेदार होने वाला है क्योंकि आज हम जानेंगे सिस्टम सॉफ्टवेयर क्या होता है और सिस्टम सॉफ्टवेयर किसे कहते हैं तथा सिस्टम सॉफ्टवेयर के कितने प्रकार होते हैं एवं सिस्टम और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर में क्या अंतर होता है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर प्रोग्राम का एक संग्रह है जो कंप्यूटर के आंतरिक कामकाज के सभी पहलुओं का प्रबंधन करता है। यह विभिन्न परिधीय उपकरणों के साथ-साथ अन्य सॉफ्टवेयर और कार्यों को भी निष्पादित और नियंत्रित करता है। यह किसी भी कंप्यूटर का महत्वपूर्ण भाग होता है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर क्या है?

system software kya hai

सिस्टम सॉफ्टवेयर एक प्रकार का कंप्यूटर प्रोग्राम है जो कंप्यूटर के हार्डवेयर पर चलता है। हर कंप्यूटर सिस्टम में सिस्टम सॉफ्टवेयर होता है। सिस्टम सॉफ्टवेयर ऐसा प्रोग्राम है जो कंप्यूटर को खुद को प्रबंधित और संचालित करने की अनुमति देता है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर एक विशेष प्रोग्राम है जिसे कंप्यूटर निर्माता हार्डवेयर उपकरणों के साथ संचार करने के लिए बनाते हैं। सिस्टम सॉफ्टवेयर का उपयोग कंप्यूटर के प्रबंधन के लिए किया जाता है। हार्डवेयर उपकरणों के साथ संचार करने और सिस्टम रखरखाव के लिए विशेष कार्य करने के लिए, ऑपरेटिंग सिस्टम को विशेष सॉफ्टवेयर की आवश्यकता होती है जिसे सिस्टम सॉफ्टवेयर कहा जाता है।

यह भी पढ़ें: सेंसर क्या होता है? सेंसर कितने  प्रकार के होते हैं और उनका उपयोग

यह बैकग्राउंड में चलता है और कंप्यूटर के बुनियादी कार्यों को बनाए रखता है ताकि उपयोगकर्ता कुछ कार्यों को पूरा करने के लिए उच्च-स्तरीय सॉफ्टवेयर का उपयोग कर सकें। सिस्टम सॉफ्टवेयर मूल रूप से एक ऐसा प्लेटफार्म है जो एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को चलाने की अनुमति देता है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर के प्रकार

सिस्टम सॉफ्टवेयर के पांच प्रकार होते हैं जो निम्नलिखित विशेषताओं के आधार पर वर्णित किए जा सकते हैं। इसमें कई सारे सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर का मिलन होता है। ऑपरेटिंग सिस्टम भी एक प्रकार का सिस्टम सॉफ्टवेयर है इसके अलावा और भी कई सारे सॉफ्टवेयर है जो कि एक सिस्टम सॉफ्टवेयर में गिने जाते हैं।

  1. ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर
  2. प्रोग्रामिंग लैंग्वेज ट्रांसलेटर
  3. डिवाइस ड्राइवर सॉफ्टवेयर
  4. फर्मवेयर  सॉफ्टवेयर
  5. यूटिलिटी सॉफ्टवेयर

इन सभी सिस्टम सॉफ्टवेयर के प्रकारों का विवरण विस्तृत रूप से नीचे एक-एक करके दिया गया है। 

1. ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर 

system software kya hota hai

ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर सिस्टम का दिल है। कंप्यूटर को सुचारू रूप से चलाने के लिए हम ऑपरेटिंग सिस्टम इनस्टॉल करना पड़ता है। मान लीजिए कि कीबोर्ड, माउस, सीपीयू और मॉनिटर जैसे सभी डिवाइस जुड़े हुए हैं। अब आप सोच सकते हैं कि जब हम बिजली की आपूर्ति चालू करेंगे तो कंप्यूटर काम करेगा। यह तब तक असंभव है जब तक कंप्यूटर पर ऑपरेटिंग सिस्टम स्थापित नहीं हो जाता।

ऑपरेटिंग सिस्टम को स्थापित करना आवश्यक है क्योंकि यह इन कार्यों को करता है:

  • यह प्रत्येक कार्य के लिए संसाधन प्रदान करेगा।
  • यह सुनिश्चित करेगा कि सिस्टम के सभी हार्डवेयर घटक एक सुलभ स्थिति में हैं।
  • यह उपयोगकर्ता को एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर तक पहुंचने और उपयोग करने की अनुमति देता है।
  • यह कई कार्यों को प्राथमिकता देता है।
  • यह सॉफ्टवेयर उपयोग के दौरान त्रुटियों को रोकता है।
  • यह कंप्यूटर को नेटवर्क से कनेक्ट करने की अनुमति देता है।
  • यह विभिन्न कंप्यूटर संसाधनों का प्रबंधन करता है, जैसे सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर, आदि।
  • यह कंप्यूटर पर इनपुट और आउटपुट डिवाइस को नियंत्रित करता है।
  • ऑपरेटिंग सिस्टम डिवाइस का पता लगा सकता है, इंस्टॉल कर सकता है।

यह भी पढ़ें: गियर बॉक्स क्या है और कैसे काम करता है?

उदाहरण: MS-DOS पहला OS था। यह कमांड लाइन इंटरफेस (सीएलआई) का इस्तेमाल करता था और इसे एमएस-डॉस कहा जाता था। माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज विकसित की, जिसने उसके बाद ग्राफिकल यूजर इंटरफेस (जीयूआई) का इस्तेमाल किया गया और धीरे-धीरे इसे विकसित किया गया।

2. प्रोग्रामिंग लैंग्वेज ट्रांसलेटर

प्रोग्रामिंग लैंग्वेज ट्रांसलेटर उच्च-स्तरीय और मध्यम-स्तरीय भाषाओं को मशीनी भाषा में परिवर्तित करते हैं ताकि मशीन इसे समझ सके। उपयोगकर्ता जिस भाषा का उपयोग कंप्यूटर के साथ बातचीत करने के लिए करता है उसे उच्च स्तरीय भाषा कहा जाता है।

उच्च स्तरीय भाषाओं में JAVA, C++ और PHP शामिल हैं। मशीनी भाषा उस कोड को संदर्भित करती है जिसे केवल प्रोसेसर द्वारा समझा जाता है। कंपाइलर, दुभाषिया और असेंबलर कुछ सबसे प्रसिद्ध अनुवादक हैं। ये अनुवादक कंप्यूटर निर्माताओं द्वारा बनाए गए हैं। अनुवादक सभी कोड को मशीन-कोड में एक साथ या लाइन दर लाइन अनुवाद करने में सक्षम हैं।

अनुवादक कई कार्यों में सहायता कर सकते हैं जैसे:

  • यदि कोड नियम तोड़े जाते हैं, तो नैदानिक ​​रिपोर्ट प्रदान की जाएगी।
  • यह प्रोग्राम विवरण और स्रोत कोड दोनों के साथ एक सूची तैयार करेगा।
  • सिस्टम का अनुवाद होने पर अनुवादकों द्वारा सिंटैक्स त्रुटियों की पहचान की जाती है। तब हम आवश्यक परिवर्तन कर सकते हैं।
  • यह भंडारण प्रदान करता है।

3. डिवाइस ड्राइवर सॉफ्टवेयर

ड्राइवर सॉफ्टवेयर हमें बिना किसी समस्या के अपने डिवाइस का उपयोग करने की अनुमति देता है। यह सॉफ्टवेयर घटकों को OS के अनुसार अपने कार्यों को पूरा करने की सुविधा देता है।

कुछ उपकरणों के लिए ड्राइवरों सॉफ्टवेयर की आवश्यकता होती है।

  • माउस
  • कीबोर्ड
  • टच पैड
  • प्रिंटर
  • डिस्प्ले कार्ड
  • नेटवर्क कार्ड
  • ध्वनि

कुछ उपकरण के लिए आपको ड्राइवर इंस्टॉल करना पड़ता है जबकि कुछ उपकरणों के लिए ड्राइवर डिफ़ॉल्ट रूप से आपके कंप्यूटर पर पहले से इंस्टॉल होते हैं।

यह भी पढ़ें: मोबाइल लर्निंग क्या है और इसका उपयोग कैसे करें

यदि डिवाइस, जैसे कि प्रिंटर, ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए नया है, तो ड्राइवर स्थापित करना आवश्यक है। उन्हें निर्माता की वेबसाइटों से या इंटरनेट जैसे किसी अन्य स्रोत से डाउनलोड किया जा सकता है।

4. फर्मवेयर सॉफ्टवेयर

यह ऑपरेटिंग सॉफ्टवेयर है जो फ्लैश, EPROM और EEPROM मेमोरी चिप्स में एम्बेडेड है ताकि ओएस उन्हें जल्दी से पहचान सके। फर्मवेयर का कार्य किसी भी हार्डवेयर की सभी गतिविधियों का प्रबंधन और नियंत्रण करना है।

firmware system software kya hota hai

फर्मवेयर सॉफ्टवेयर के दो प्रकार हैं: BIOS (बेसिक इनपुट/आउटपुट सिस्टम) और UEFI (यूनिफाइड एक्सटेंडेड फर्मवेयर इंटरफेस)। फर्मवेयर निर्माता द्वारा मदरबोर्ड पर स्थापित किया जाता है। इसे इस प्रकार के चिप्स के माध्यम से एक्सेस किया जा सकता है। इसे कॉन्फ़िगरेशन इंटरफ़ेस के रूप में भी जाना जाता है।

यह तब लोड होता है जब कंप्यूटर चालू होता है और POST (पावर ऑन सेल्फ टेस्ट) से गुजरता है। जब कोई कंप्यूटर शुरू होता है, तो मदरबोर्ड फर्मवेयर उसे जगाता है। यह सुनिश्चित करता है कि कंप्यूटर के सभी घटक ठीक से काम करें। इसके बाद यह ऑपरेटिंग सिस्टम को लोड करने के लिए बूटलोडर चलाएगा। RAM में कोई त्रुटि होने पर BIOS कंप्यूटर को बूट करने की अनुमति देने से मना कर देगा।

यह भी पढ़ें: डिजिटल साउंड क्या है? डिजिटल और एनालॉग ऑडियो में क्या अंतर होता है

फर्मवेयर और ड्राइवरों के बीच का अंतर यह है कि फर्मवेयर उपकरणों में रहेगा, जबकि ड्राइवर ऑपरेटिंग सिस्टम में स्थापित होंगे।

5. यूटिलिटी सॉफ्टवेयर

यूटिलिटी सॉफ्टवेयर एक प्रकार का सिस्टम सॉफ्टवेयर है जो एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर और सिस्टम सॉफ्टवेयर के बीच इंटरफेस के रूप में कार्य करता है।

इन प्रोग्रामों को एक विशिष्ट कार्य करने के लिए डिज़ाइन किया गया है, जैसे कंप्यूटर को बनाए रखना या किसी त्रुटि का निदान करना। ये आमतौर पर थर्ड पार्टी प्रोग्राम होते हैं जो ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ आते हैं।

उपयोगिता आधार पर इसकी विशेषताएं हैं:

  • एक फ़ायरवॉल हमें बाहरी खतरों से बचाता है।
  • यह हार्डवेयर डायग्नोस्टिक सेवाओं जैसे प्रदर्शन मॉनिटर और हार्ड डिस्क प्रहरी के लिए स्कैन कर सकता है।
  • यह डिस्क स्थान को अनुकूलित करने के लिए फ़ाइलों को संपीड़ित कर सकता है।
  • उपयोगिता डिस्क विभाजन सेवाएं जैसे कि विंडोज डिस्क प्रबंधन कर सकती है।
  • उपयोगिता एक उपकरण है जिसका उपयोग खोए हुए डेटा को पुनर्प्राप्त करने के लिए किया जा सकता है। 
  • यूटिलिटी सॉफ्टवेयर हमारे सिस्टम जैसे क्लोनज़िला और कोबियन के लिए सुरक्षा बढ़ाने के लिए हमारे डेटा का बैकअप ले सकती है।

यह भी पढ़ें: करंट ट्रांसफार्मर के प्रकार और उपयोग क्या होता है?

सिस्टम सॉफ्टवेयर की महत्वपूर्ण विशेषताएं क्या है?

system software ki kya visheshta kya hai

सिस्टम सॉफ्टवेयर अक्सर कंप्यूटर निर्माताओं द्वारा कंप्यूटर के अभिन्न अंग के रूप में विकसित किया जाता है। कंप्यूटर हार्डवेयर और अंतिम उपयोगकर्ताओं के बीच एक इंटरफेस बनाने की प्राथमिक जिम्मेदारी इस सॉफ्टवेयर की है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर के लिए निम्नलिखित विशेषताएं हैं:

  • कंप्यूटर सिस्टम के भीतर अधिक उन्नत सॉफ्टवेयर के लिए एक मंच प्रदान करने के लिए, सिस्टम सॉफ्टवेयर जितना संभव हो उतना कुशल और प्रभावी होना चाहिए।
  • इसका उपयोग करना मुश्किल है। इसके लिए एक प्रोग्रामिंग भाषा के उपयोग की आवश्यकता होती है जो एक सहज उपयोगकर्ता इंटरफ़ेस (UI) की तुलना में अधिक जटिल हो सकती है।
  • निम्न स्तर की भाषा में लिखा गया है। निम्न-स्तरीय कंप्यूटर भाषा में लिखा गया है।
  • यह सीधे हार्डवेयर से जुड़ता है, जिससे कंप्यूटर कार्य करने में सक्षम होता है।

यह भी पढ़ें: Teleprompter क्या है? टैलिप्राम्प्टर के प्रकार और उपयोग क्या होता है?

सिस्टम और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर में क्या अंतर होता है?

सॉफ्टवेयर सॉफ्टवेयरएप्लीकेशन सॉफ्टवेयर
सिस्टम सॉफ्टवेयर का उपयोग मुख्यतः कंप्यूटर पर हार्डवेयर को संचालित करने के लिए किया जाता है।किसी विशिष्ट कार्य को करने के लिए, उपयोगकर्ता विशेष एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर का उपयोग करता है।
कंप्यूटर पर ऑपरेटिंग सिस्टम इंस्टॉल हो जाने के बाद सिस्टम सॉफ्टवेयर को भी माउंट किया जाना चाहिए।हम उपयोगकर्ता की आवश्यकताओं के अनुसार सॉफ्टवेयर स्थापित करेंगे।
सॉफ्टवेयर बैकग्राउंड में चलता है। उपयोगकर्ता सिस्टम सॉफ़्टवेयर के साथ सहभागिता नहीं कर सकता है।उपयोगकर्ता सामान्य रूप से सॉफ्टवेयर के साथ इंटरफेस करता है।
यह स्वतंत्र है क्योंकि यह एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर चलाने के लिए मंच के रूप में कार्य करता है।यह अपने आप नहीं चल सकता क्योंकि यह सिस्टम सॉफ्टवेयर के बिना नहीं चल सकता।
उदाहरण: कंपाइलर, असेंबलर आदि।उदाहरण: वर्ड प्रोसेसर, वेब ब्राउज़र और मीडिया प्लेयर, आदि।

यह भी पढ़ें: Software Engineer क्या होता है?

प्रश्न और उत्तर

सिस्टम सॉफ्टवेयर किसे कहते हैं?

जो सॉफ्टवेयर हार्डवेयर और अन्य एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को नियमित रूप से चलाने में मदद करता है उसे सिस्टम सॉफ्टवेयर कहते हैं। सिस्टम सॉफ्टवेयर के कई उदाहरण उपलब्ध है जैसे कि ऑपरेटिंग सिस्टम, ड्राइवर सॉफ्टवेयर इत्यादि एक प्रकार के सिस्टम सॉफ्टवेयर हैं।

सिस्टम सॉफ्टवेयर के कितने प्रकार होते हैं?

सिस्टम सॉफ्टवेयर के पांच प्रकार होते हैं जो अपनी अपनी विशेषताओं के आधार पर वर्गीकृत होते हैं।

सिस्टम सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर में क्या अंतर है?

सिस्टम सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के आंतरिक भाग पर कार्य करता है जबकि एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के अंदर किसी निश्चित कार्य को करता है।

ऑपरेटिंग सिस्टम के कुछ उदाहरण क्या है?

ऑपरेटिंग सिस्टम के कुछ महत्वपूर्ण उदाहरण है जैसे Android, Apple macOS, Apple iOS, Color OS, Linux, Microsoft Windows etc.

यह भी पढ़ें: MMID क्या होता है?

निष्कर्ष

सिस्टम सॉफ्टवेयर कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण अंग है जिसके जरिए कंप्यूटर सभी प्रकार की डिजिटल प्रक्रियाएं कर पाता है इसलिए यह कंप्यूटर जगत के लिए अति महत्वपूर्ण हो जाता है।

मुझे लगता है कि सिस्टम सॉफ्टवेयर क्या होता है और सिस्टम सॉफ्टवेयर के प्रकार कितने होते हैं तथा सिस्टम और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर में क्या अंतर होता है और इसकी क्या विशेषता है से संबंधित यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी।

सिस्टम सॉफ्टवेयर के ऊपर यह जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ नीचे दिए गए व्हाट्सएप और फेसबुक के बटन को दबाकर शेयर करें। अगर आपके मन में सिस्टम सॉफ्टवेयर से जुड़ी हुई आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर बता सकते हैं हम उसका उत्तर जरूर देंगे।

टेक्नोलॉजी से भरी हुई सभी प्रकार की जानकारियों को रोजाना अपने मोबाइल फोन पर प्राप्त करने के लिए आप हमारे वेबसाइट के नोटिफिकेशन को सब्सक्राइब कर सकते हैं जिससे कि सभी महत्वपूर्ण जानकारी आपको तुरंत मिल सके।

1 thought on “सिस्टम सॉफ्टवेयर क्या होता है हिंदी में जाने”

Leave a Comment

error: जानकारी सुरक्षित है