होम » शिक्षा » पुरातत्व से आप क्या समझते हैं? पुरातत्व और इतिहास के बीच संबंध और इसके महत्व

पुरातत्व से आप क्या समझते हैं? पुरातत्व और इतिहास के बीच संबंध और इसके महत्व

अक्सर परीक्षाओं में पुरातत्व से आप क्या समझते हैं ( Puratatva Se Aap Kya Samajhte Hain ) इस तरह के प्रश्न पूछ लिए जाते हैं क्योंकि पुरातत्व और इतिहास के बीच का संबंध बड़ा है और इसके अत्यंत महत्व भी हैं। आइए देखते हैं पुरातत्व क्यों इतना महत्वपूर्ण विषय है।

पुरातत्व का इस्तेमाल बहुत प्राचीन समय से होता आ रहा है, इसके इस्तेमाल से ही हमने हड़प्पा और सिंधु घाटी की सभ्यता को खोज निकाला था, जो मानव विकास के एक समय सीमा को दर्शाता है।

हम पुरातत्व के महत्व एवं विज्ञान की खोज के विषय में आगे बढ़े इससे पहले यह जान लेते हैं कि पुरातत्व से आप क्या समझते हैं। 

पुरातत्व से आप क्या समझते हैं? Puratatva Se Aap Kya Samajhte Hain

puratatva se aap kya samajhte hain

पुरातत्व से तात्पर्य भौतिक अवशेषों के उपयोग के माध्यम से मानव इतिहास के अध्ययन से है।

पुरातत्वविद हमारे प्राचीनतम मानव पूर्वजों के लाखों वर्ष पूर्व के जीवाश्मों का अध्ययन कर सकते हैं। 

उदाहरण के लिए पुरातत्व गुजरात जैसे शहरों की 20वीं सदी की इमारतों का भी अध्ययन कर सकते हैं।

पुरातत्व मानव संस्कृति की व्यापक समझ हासिल करने के लिए अतीत के अवशेषों का अध्ययन करता है।

यह भी पढ़ें: शॉटकी दोष क्या है ? शॉटकी दोष के उदाहरण और विशेषताएं

पुरातत्व किसे कहते हैं?

पुरातत्व का परिभाषा: ऐसी विधि जिससे हम किसी पुराने जीवाश्म एवं पौधों का परीक्षण करके हम उसकी आयु एवं उसकी उपयोगिता का पता लगाते हैं उसे पुरातत्व कहते हैं।

इस विधि का इस्तेमाल वर्तमान समय में बढ़ गया है क्योंकि लोग अपने इतिहास के बारे में जल्दी से जल्दी जानना चाहते हैं ताकि उन्हें अपने जीवन के अर्थ का पता चल सके।

कोई भी चीज जो बहुत पुरानी हो और समाज के विकास में उसका योगदान हो इसी तरह की चीजों का पता लगाने के लिए पुरातत्व का इस्तेमाल होता है।

पुरातत्व विभाग की खोज

पुरातत्व विभाग की खोज “सर एलेग्जेंडर कनिंघम (Sir Alexander Cunningham)” ने किया था, जिन्होंने पहली बार 1863 में आर्कलॉजिकल विभाग की खोज की थी।

वह एक ब्रिटिश सेना के आर्मी ऑफिसर थे, उन्होंने अपनी शोध में उन्होंने इसका भी जिक्र किया है।

वर्तमान समय में पुरातत्व विभाग बहुत विकसित हो चुकी है नई-नई तकनीकों से हम आसानी से पता कर लेते हैं कि कोई वस्तु की आयु कितनी हो सकती है।

पुरातत्व के प्रकार से आप क्या समझते हैं?

पुरातत्व को अध्ययन का एक व्यापक क्षेत्र माना जा सकता है। पुरातत्वविद विश्व के एक बड़े विषय पर ध्यान केंद्रित करते हैं। 

puratatva ke parkar se aap kya samajhte hain

एक पुरातत्वविद् विशेषज्ञता हासिल करने के लिए एक विशिष्ट क्षेत्र में विशेषज्ञता हासिल करना होता है।

पुरातत्वविद मानव अवशेषों जैव पुरातत्व, जानवरों, प्राचीन पौधों और पत्थर के औजारों का अध्ययन कर सकते हैं। 

कुछ पुरातत्वविद प्रौद्योगिकी के विशेषज्ञ होते हैं जो पुरातात्विक स्थलों का विश्लेषण, मानचित्र और पता लगाते हैं।

पानी के नीचे के पुरातत्वविद पानी की सतह के नीचे या तटों के साथ मानव गतिविधि के अवशेषों की जांच करते हैं। 

सांस्कृतिक संसाधन प्रबंधन जिसे “CRM” भी कहा जाता है संघीय और राज्य कानूनों के बाद पुरातत्वविदों के काम को संदर्भित करता है।

यह भी पढ़ें: भर्जन क्या होता है? भर्जन का उपयोग और इसके फायदे एवं नुकसान का क्या है?

पुरातत्व नृविज्ञान का एक क्षेत्र है, जो मनुष्यों का अध्ययन करता है। पुरातत्व को एक स्वतंत्र क्षेत्र या दुनिया के अन्य हिस्सों में ऐतिहासिक शोध का हिस्सा माना जा सकता है।

पुरातत्व स्थल से आप क्या समझते हैं

कोई भी स्थान जिसमें अतीत में मानव गतिविधि के भौतिक अवशेष होते हैं, एक पुरातात्विक स्थल है।

पुरातत्व स्थल हैं जिनका कोई लिखित रिकॉर्ड नहीं है और उन्हें प्रागैतिहासिक पुरातत्व स्थल कहा जाता है। 

इन साइटों में पत्थर की खदान और रॉक कला, गाँव, शहर, शिविर स्थल, महापाषाण पत्थर के स्मारक और प्राचीन कब्रिस्तान शामिल हो सकते हैं। 

ये स्थल ऐतिहासिक पुरातत्व स्थल हैं, जिनका उपयोग पुरातत्वविद अपने शोध में सहायता के लिए कर सकते हैं।

ये स्थल घनी आबादी वाले शहरों में या जल स्तर से बहुत नीचे पाए जा सकते हैं। 

कई ऐतिहासिक पुरातात्विक स्थल है, जिसमें जहाज के टुकड़े और युद्ध के मैदान, दास क्वार्टरों के साथ-साथ कब्रिस्तान, मिलों और कारखाने शामिल हैं।

प्रसिद्ध पुरातात्विक खोज के नाम

पुरातत्व विज्ञान की मदद से बहुत सारे ऐसे खोज हुए हैं जिन्होंने मानव जीवन के महत्वपूर्ण रहस्यों को उजागर किया है।

कुछ प्रसिद्ध पुरातात्विक खोज के नाम

  1. हड़प्पा सभ्यता 
  2. नालंदा विश्वविद्यालय 
  3. जैसलमेर का किला
  4. टेराकोटा सेना
  5. रिचर्ड 3 की कब्र
  6. कोणार्क का सूर्य मंदिर
  7. मीनाक्षी मंदिर तमिलनाडु 
  8. ओल्डुवाई जॉर्ज
  9. अल्तामिरा की गुफा
  10. पुराने जमाने की यहूदी हस्त लिपियाँ

यह भी पढ़ें: कहवा किसे कहते हैं? Kashmiri Kahwa Kya Hota Hai?

पुरातत्व का क्या महत्व है

पुरातत्व का इतना महत्व है ​​कि सबसे छोटे पुरातात्विक स्थल में भी बहुमूल्य जानकारी हो सकती है

इसके कुछ महत्व निम्नलिखित है:

  • इसकी सहायता से हम मानव जीवन के विकास को अच्छी तरह से समझ सकते हैं।
  • पुरातत्व आपको अनसुनी और अनदेखी वस्तुओं से सामना करवाता है।
  • हमारी संस्कृति को समेटे हुए रखती है जो दीर्घकाल तक अमर हो जाती है।
  • पुरातत्व भूतकाल में घटी हुई घटनाओं की बारे में समझाता है।
  • इसकी मदद से हम भविष्य में होने वाली घटनाओं का भी अंदाजा लगा सकते हैं।
  • कुछ विशेषताओं में मिट्टी के दाग शामिल हैं, जो भंडारण गड्ढों, संरचनाओं और बाड़ के स्थान को दर्शाते हैं।
  • पुरातत्वविद जीव-जंतुओं और पौधों के अवशेषों का उपयोग उनके निर्वाह और आहार को समझने में के लिए करते हैं।

इतिहास और पुरातत्व के बीच संबंध 

इन दोनों के बीच एक सरल रेखा है जिसे हम इस प्रकार से समझ सकते हैं।

  • इतिहास में लिखे गए चीजों को पुरातत्व के द्वारा सूचित किया जाता है कि वह वास्तव में मौजूद था या नहीं।
  • पुरातत्व किसी वस्तु से संबंधित है और इतिहास उसके भूतकाल के बारे में बताता है।
  • इतिहास सच और झूठ दोनों को संग्रहित करता है लेकिन पुरातत्व सिर्फ सच को उजागर करता है।
  • पुरातत्व पहले आता है जबकि इतिहास पहले उसकी व्याख्या करता है।
  • पुरातत्व का निर्माण इतिहास के संदर्भ में होता है।

प्रश्न और उत्तर

पुरातत्व विज्ञान क्या है?

पुरातत्व विज्ञान की वह शाखा है जिसमें प्राचीन जीवाश्म का अध्ययन करके उनकी बनावट, उपयोगिता और आयु का पता लगाते हैं, जो ऐतिहासिक घटनाक्रम की व्याख्या करता है।

उत्खनन से आप क्या समझते हैं?

उत्खनन एक प्रक्रिया है जिसमें पुरातात्विक चीजों की खोज करने के लिए जमीन को खोदा जाता है इसे ही उत्खनन कहते हैं। उत्खनन के बिना पुरातात्विक खोज संभव नहीं है।

पुरातत्व कहां से पाई जाती है?

पुरातत्व जमीन की गहराई में पाई जाती है क्योंकि प्राचीन समय की यात्रा करने पर कोई भी चीज जमीन के नीचे दब जाती है, इसलिए पुरातत्व गहराइयों में अधिक मात्रा में पाई जाती है।

पुरातत्व कलाकृतियाँ से क्या समझते हैं?

कलाकृतियाँ ऐसी वस्तु हो सकती हैं जिन्हें लोगों द्वारा बनाया, संशोधित या उपयोग किया गया हो। पुरातत्वविद कलाकृतियों का अध्ययन उन लोगों के बारे में अधिक जानने के लिए करते हैं जिन्होंने उन्हें बनाया और उनका उपयोग किया। 

कार्बन 14 विधि से आप क्या समझते हैं?

पुरातात्विक चीजों की खोज करने के लिए कार्बन 14 विधि का उपयोग होता है जिसका इस्तेमाल करके हम किसी भी जीवाश्म की आयु का सही-सही पता लगा लेते हैं।

यह भी पढ़ें:-

निष्कर्ष : पुरातत्व से आप क्या समझते हैं

आज की हमारी जानकारी पूरी तरह से पुरातत्व से आप क्या समझते हैं ( Puratatva Se Aap Kya Samajhte Hain ) या पुरातत्व की परिभाषा क्या है। पुरातत्व के महत्व के ऊपर विस्तृत था आशा करता हूं आपको यह अच्छा लगा होगा।

हमारी जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो आप हमारी जानकारी को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

पुरातत्व से आप क्या समझते हैं से संबंधित कोई भी प्रश्न आपके मन में हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर पूछ सकते हैं हम उत्तर अवश्य देंगे।

इसी तरह की जानकारी को पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट Newinhindi.In को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

1 thought on “पुरातत्व से आप क्या समझते हैं? पुरातत्व और इतिहास के बीच संबंध और इसके महत्व”

Leave a Comment

error: जानकारी सुरक्षित है